ब्लॉगसेतु

Lokendra Singh
104
वैसे तो 'राष्ट्रवाद' सदैव ही जनसाधारण की चर्चाओं से लेकर अकादमिक विमर्श के केंद्र में रहता है। किंतु, वर्तमान समय में राष्ट्रवाद की चर्चा जोरों पर है। राष्ट्रवाद का जिक्र बार-बार आ रहा है। राष्ट्रवाद को 'उपसर्ग' की तरह भी प्रयोग में लिया जा रहा है, यथा- राष्ट्रवादी...
Lokendra Singh
104
भारतीय भाषाओं के सम्मान का अनुष्ठानयूँ तो मीडिया विमर्श का हर अंक ही विशेष होता है। हर अंक पठनीय और संदर्भ सामग्री से भरा पड़ा संग्रहणीय। कई ऐसे विषयों पर भी मीडिया विमर्श ने विशेषांक निकाले हैं, जिनकी मीडिया में भी अत्यंत कम चर्चा होती है और होती भी है तो वही पुरान...
kavita verma
245
कलमकार मंच द्वारा प्रकाशित मेरे कहानी संग्रह कछु अकथ कहानी के बारे में यहाँ पढिये और अच्छा लगे तो आर्डर भी यहीं कर दीजिए ।#booksfortrade#books#BookReviewhttps://kalamkarmanch.in/archives/1250
Lokendra Singh
104
सक्रिय पत्रकारिता और उसके शिक्षण-प्रशिक्षण के सशक्त हस्ताक्षर प्रो. कमल दीक्षित की नयी पुस्तक ‘मूल्यानुगत मीडिया : संभावना और चुनौतियां’ ऐसे समय में आई है, जब मीडिया में मूल्यहीनता दिखाई पड़ रही है। मीडिया में मूल्यों और सिद्धांतों की बात तो सब कर रहे हैं, लेकिन उस...
Bharat Tiwari
26
देह व्यापार हो या बलात्कार, हम हायतौबा भी अपनी सहूलियत और अपने एजेंडा के हिसाब से मचाते हैं। मेरे शहर में कोई बलात्कार हुआ तो मैं दुःखी हो जाऊंगी आपके शहर में कोई हुआ तो आप। इस सत्य को जानते हुए अनदेखी कर जाते हैं कि भारत में हर रोज़ बलात्कार हो रहे हैं। — अंकि...
Bharat Tiwari
26
नरम घास, चिड़िया और नींद में मछलियां— उमा शंकर चौधरीकहानीकार को 'नरम घास, चिड़िया और नींद में मछलियां' कहानी कह पाने की बधाई से अधिक शुक्रिया देना चाहिए, जिसमें कहानीकार साहित्यकार बन जाता है और साहित्य का धर्म ‘सच बताना और सच बचाना’ निभाता है. हम सब अपनी जड़ को भूल न...
Rajeev Upadhyay
577
“Every article highlights a value, principle, mindset or an approach at the foundational level rather than providing a popular tip or a technique. The focus is on the long-term rather than gaining from a fleeting advantage.” N R Narayana Murthy, Founder Infosys&nbs...
 पोस्ट लेवल : Book Review
Lokendra Singh
104
लेखक और मीडिया शिक्षक डॉ. सौरभ मालवीय की पुस्तक 'विकास के पथ पर भारत' केंद्र सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं का दस्तावेज है। यह पुस्तक सामान्य जन से लेकर उन सबके लिए महत्वपूर्ण साबित होगी जो देश में चल रहीं लोक कल्याणकारी योजनाओं को समझना चाहते हैं। यह उन अध्येताओं, सा...
Tejas Poonia
378
किताब - विज्ञप्ति भर बारिशविधा- कविता संग्रहप्रकाशक - सूर्य प्रकाशन मंदिर, बीकानेरलेखक - ओम नागरसमीक्षक - तेजस पूनियाहिंदी साहित्य आदिकाल से लेकर आज तक के दो हजार वर्ष से भी अधिक का एक दीर्घकालिक समयांतराल पार कर चुका है। इस दौरान इसमें कई आंदोलन हुए, कई विचारधाराओ...
Tejas Poonia
378
किसी भी कहानी को लिखने के लिए लेखक के पास सबसे अहम चीज जो होनी चाहिए ; वह है उसके पात्र। बिना कहानी के पात्रों के आप या हम किसी भी कहानी की सर्जना नहीं कर सकते। हालांकि साहित्यिक कैटेगरी के अनुसार उसमें छ: तत्व होने जरूरी होते हैं, किन्तु जब उस कहानी को आप फिल्मा र...