ब्लॉगसेतु

संजीव तिवारी
379
न्यायालय: प्रथम अतिरिक्त मोटर दुर्घटना दावा अधिकरण दुर्ग  (छत्तीसगढ़)(पीठासीन अधिकारी: अजीत कुमार राजभानू)Motor accident claims tribunalक्लेम प्रकरण क्रमांक-213/2017संस्थित दिनांक: 18-05-20171. श्रीमती शांति देवी जौजे स्व.किशनलाल यादव, उम्र लगभग 65 वर्ष ।2. मह...
sanjay krishna
210
अध्यक्ष महोदय, पिछड़े वर्ग का एक सदस्य होने के नाते मुझे नहीं पता है कि पिछड़े वर्गों और अनुसूचित जातियों के बीच में क्या अंतर है। जैसा इस समिति के पिछड़े वर्ग के एक सदस्य ने कहा है। जहां तक मेरा सवाल है, मैं इस प्रस्ताव के पेशकर्ता द्वारा सुझाए गए नामों के वि...
 पोस्ट लेवल : jaypal singh/adivasi/jharkhand
Devendra Gehlod
61
..............................
 पोस्ट लेवल : ghazal baljeet-singh-benaam
संजीव तिवारी
23
गोठान का लोकार्पण और प्रतियोगिता का किया शुभारंभछत्तीसगढ़ की परम्परा और संस्कृति को सहेजने का काम कर रही है सरकार -डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम रायपुर, छत्तीसगढ़ की ग्रामीण संस्कृति का पहला और प्रमुख हरेली- आमुस तिहार (Aamus Tihar) आज बस्तर (Bastar) जिले में पार...
 पोस्ट लेवल : Pradesh Premsai Singh Tekam Bastar Hareli Tihar
sanjiv verma salil
5
पुस्तक चर्चा : ''कालचक्र को चलने दो'' भाव प्रधान कवितायें '' [पुस्तक विवरण: काल चक्र को चलने दो, कविता संग्रह, सुनीता सिंह, प्रथम संस्करण २०१८, पृष्ठ १२५, आकार २० से.मी. x १४.५ से. मी., आवरण बहुरंगी पेपर बाइक लेमिनेटेड, २००/- प्रतिष्ठा पब्लिशिंग हाउस, लखनऊ] *सा...
Bharat Tiwari
22
कविता में प्रत्येक शब्द और पंक्ति पर विचार करते हैं लेकिन कहानी में नहीं। कहानी की भी उसी तरह से व्याख्या होनी चाहिए | नामवर पर विश्वनाथ - 2साभार, मध्यप्रदेश साहित्य अकादमी. प्रति सहेजना चाहें तो : साहित्य अकादमी, संस्कृति भवन, वाणगंगा चौराहा, भोपाल (म.प्र.) -...
sanjiv verma salil
5
एक बटोही की छंद यात्राकिसी व्यक्ति को जानने के लिए ज़रूरी नहीं कि लम्बे समय तक बार बार मिलकर बहस और चर्चाएँ हों। कभी कभी कुछ मुलाकातें और आत्मीयता के साथ महत्त्वपूर्ण मुद्दोंपर किया गया विचार-विमर्श एवं सीमित समय में सार्थक चर्चा भी अमिट प्रभाव छोड़ती है ।छंद आच...
Bharat Tiwari
22
रेशम के लच्छे जैसी स्वर लहरियाँ | नामवर पर विश्वनाथ - 1नामवरजी ने आलोचक के रूप में जितनी ख्याति पाई उतनी ख्याति वह कवि रूप में भी पा लेते — विश्वनाथ त्रिपाठीमध्यप्रदेश साहित्य अकादमी, भोपाल की हिंदी मासिक (अरसे से बंद) 'साक्षात्कार' का एक बार फिर जीवित होना —&...
Bharat Tiwari
22
आलोकधन्वा की कविताओं का सार, संसार कवि को न पढ़े गए से पढ़ें! —  सुधा सिंह आलोकधन्वा सन् सत्तर के दशक के महत्वपूर्ण कवि हैं। 'ब्रूनो की बेटियाँ' , 'भागी हुई लड़कियाँ', 'गोली दागो पोस्टर', 'जनता का आदमी' आदि कविताएं कवि की प्रतिनिधि कविताएं मानी...
MediaLink Ravinder
443
बहुप्रतीक्षित बाला साहिब हस्पताल के निर्माण पर होगी चर्चा नई दिल्ली: 19 जून 2019: (मीडिया स्क्रीन ब्यूरो):: वरिष्ठ अकाली नेता तथा सामाजिक कार्यकर्ता जत्थेदार कुलदीप सिंह भोगल, सिख कौम के बहुप्रतीक्षित बाला साहिब हस्पताल के निर्माण,विस्तार, आर्थिक स्रोत व&...
 पोस्ट लेवल : Media Press Akali Dal Kuldip Singh Bhogal New Delhi Press Invite