ब्लॉगसेतु

Krishna Kumar Yadav
0
25वीं अखिल भारतीय डाक कैरम प्रतियोगिता का 9 फरवरी, 2021 को लखनऊ के केडी सिंह बाबू  स्टेडियम में शुभारम्भ किया गया। इसका उद्घाटन उत्तर प्रदेश परिमण्डल के चीफ पोस्टमास्टर जनरल श्री कौशलेन्द्र कुमार सिन्हा ने किया। कार्यक्रम में बतौर विशिष्ट अतिथि श्री रुद्र प्रत...
 पोस्ट लेवल : news Games & Sports Uttar Pradesh Lucknow
Krishna Kumar Yadav
0
 25th All India Post Carrom Tournament will be organized by Uttar Pradesh Postal Circle from 9 to 13 February, 2021 at KD Singh Babu Stadium, Lucknow. 140 Carrom players from 17 Postal Circles from across the country will participate in the tournament. 425 mat...
 पोस्ट लेवल : news Games & Sports Uttar Pradesh Lucknow
Krishna Kumar Yadav
0
उत्तर प्रदेश डाक परिमण्डल द्वारा 9 से 13  फरवरी, 2021 तक केडी सिंह बाबू स्टेडियम, लखनऊ में 25वीं अखिल भारतीय डाक कैरम प्रतियोगिता का आयोजन किया जायेगा। इस प्रतियोगिता में पूरे देश से 17 डाक परिमण्डलों के 144 कैरम खिलाडी भाग लेंगे, जिनके बीच टीम और वैयक्तिक स्त...
 पोस्ट लेवल : news Games & Sports Uttar Pradesh Lucknow
Krishna Kumar Yadav
0
चौरी-चौरा शताब्दी वर्ष के शुभारंभ अवसर को अविस्मरणीय बनाने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 4 फरवरी, 2021 को चौरी-चौरा शताब्दी महोत्सव पर आधारित कस्टमाइज्ड डाक टिकट जारी किया। प्रधानमंत्री और उ.प्र. की राज्यपाल इस समारोह में वर्चुअली शामिल हुए। वहीं शहीद स...
Vidyut Maurya
0
कोरोना काल में मेरी पहली रेल यात्रा शुरू हुई दिल्ली से मुजफ्फरपुर के लिए हमसफर एक्सप्रेस से। यूं तो पहले टिकट पटना का बनवाया था पर ऐन वक्त पर 12 घंटे पहले ट्रेन के रद्द होने का संदेश आ गया। एक बार फिर आईआरसीटीसी के एप पर तलाश की तो 14 दिसंबर को दरभंगा हमसफर एक्सप्र...
 पोस्ट लेवल : UTTAR PRADESH RAIL BIHAR
Vidyut Maurya
0
मेला सुनकर हमेशा ही दिल खिल उठता है। जब मैं दिल्ली में कुबेर टाइम्स में पहली नौकरी करता था तो हमारे फीचर संपादक हुआ करते थे डॉक्टर नरेश त्यागी। वे रोज मेरठ से आते थे। एक दिन बातों बातों में पता चला कि उनका घर मेरठ में हापुड़ रोड पर नौचंदी मेला ग्राउंड से लगी हुई का...
 पोस्ट लेवल : UTTAR PRADESH
Vidyut Maurya
0
महाभारत काल में   कौरवों की राजधानी हस्तिनापुर हुआ करती थी। इसी हस्तिनापुर के लिए महाभारत का  युद्ध लड़ा गया। पर आज हस्तिनापुर में पांडवकालीन स्मृतियां  तलाशना मुश्किल है। हस्तिनापुर में महाभारत कालीन अवशेष के नाम पर कुछ खास नहीं है। पर गंगा नदी...
 पोस्ट लेवल : TEMPLE UTTAR PRADESH
Vidyut Maurya
0
 हस्तिनापुर के जैन मंदिरों में एक और विलक्षण और खूबसूरत मंदिर है अष्टापद तीर्थ जैन मंदिर। यह भव्य जैन मंदिर श्वेतांबर समुदाय का है।  अष्टापद तीर्थ की कुल ऊंचाई 151 फीट है। इसके चार प्रवेश द्वार हैं। यह गोलाकार मंदिर काफी दूर से भी सुंदर दिख...
 पोस्ट लेवल : TEMPLE UTTAR PRADESH
Vidyut Maurya
0
कैलाश पर्वत हस्तिनापुर का दूसरा प्रसिद्ध जैन मंदिर है। यह मंदिर जंबूदीप मंदिर के मार्ग पर ही जंबू दीप के ठीक पहले स्थित है। इस विशाल मंदिर परिसर में सबसे ऊंचाई पर बने मंडप के अंदर आदिनाथ की विशाल प्रतिमा निर्मित है। कैलाश पर्वत हिमालय पर्वतमालाओं में स्थित है...
 पोस्ट लेवल : TEMPLE UTTAR PRADESH
Vidyut Maurya
0
वैसे तो हस्तिनापुर पांडवकालीन शहर माना जाता है। पर आजकल यहां कई  प्रसिद्ध जैन मंदिर हैं। यहां का  जंबूदीप मंदिर जैन समुदाय के सबसे प्रतिष्ठित तीर्थ स्थलों में से एक माना जाता है। इस मंदिर की आधारशिला 1974 में रखी गई थी, जो पूरी तरीके से 1985 में बनकर तैया...
 पोस्ट लेवल : TEMPLE UTTAR PRADESH