ब्लॉगसेतु

kumarendra singh sengar
19
जिस जेएनयू मारपीट विवाद को सरकार, शासन, प्रशासन, मीडिया शांत नहीं कर पा रहे थे उसे एक झटके में फिल्म अभिनेत्री दीपिका ने खामोश कर दिया. जेएनयू में हुए मारपीट सम्बन्धी विवाद के बाद दीपिका कथित टुकड़े गैंग से मिलने विश्वविद्यालय पहुँच गईं. दीपिका का वहाँ पहुँचना हुआ न...
मुकेश कुमार
207
'एक्वारजिया' या करूँ उसका अनुवाद तो अम्लराज ! या शाही जल !अम्लरानी क्यों नहीं ?ज़िन्दगी की झील मेंबुदबुदाते गम और उसका प्रतिफल जैसे सांद्र नाइट्रिक अम्ल और हाइड्रोक्लोरिक अम्ल का ताजा मिश्रण एक अनुपात तीन का सम्मिश्रण उफ़ ! धधकता बलबलाता हुआ सब कुछ कहीं स्वयं न पिघल...
Satyan Srivastava
43
यूरिक एसिड क्या होता है (What is Uric Acid)-यदि किसी कारणवश गुर्दे की छानने की क्षमता कम हो जाए तो यह यूरिया-यूरिक एसिड (Uric Acid) बदल जाता है। जो बाद में आपकी हड्डियों में जमा हो जाता है। जिस कारण व्यक्ति को दर्द रहने लगता है। यूरिक एसिड प्‍यूरिन के टूटने से बनता...
 पोस्ट लेवल : Uric Acid
kumarendra singh sengar
544
पिछले दिनों तेजाबी हमले की पीड़ित प्रियंका मिश्रा जिंदगी की लड़ाई हार गई. उस पर तेजाबी हमला किसी बाहरी ने नहीं बल्कि उसके पति ने उस समय किया जबकि वह सो रही थी. ऐसी एक-दो नहीं बल्कि अनेक घटनाएँ हमारे समाज में हैं जहाँ किसी महिला से, लड़की से बदला लेने की नीयत से उसके च...
kumarendra singh sengar
19
पिछले दिनों तेजाबी हमले की पीड़ित प्रियंका मिश्रा जिंदगी की लड़ाई हार गई. उस पर तेजाबी हमला किसी बाहरी ने नहीं बल्कि उसके पति ने उस समय किया जबकि वह सो रही थी. ऐसी एक-दो नहीं बल्कि अनेक घटनाएँ हमारे समाज में हैं जहाँ किसी महिला से, लड़की से बदला लेने की नीयत से उसके च...
kumarendra singh sengar
19
इंसानी दिमाग में कहीं गहरे बैठी पशुता, क्रूरता कब, किस रूप में सामने आये कहा नहीं जा सकता. उसकी मानसिक क्रूरता का ही दुष्परिणाम है कि समाज में रोज ही किसी न किसी तरह की आपराधिक घटनाएँ सुनाई देती हैं. इन्हीं आपराधिक घटनाओं में विगत कुछ वर्षों से एसिड अटैक (तेजाबी हम...
sanjiv verma salil
5
नवगीत-*एसिड की शीशी पर क्यों हो नाम किसी का?*अल्हड, कमसिन, सपनों को आकार मिल रहा।  अरमानों का कमल यत्न-तालाब खिल रहा।दिल को भायी कली भ्रमर गुंजार करे पर-मौसम को खिलना-हँसना क्यों व्यर्थ खल रहा?तेज़ाबी बारिश की जिसने पात्र...
 पोस्ट लेवल : नवगीत संजीव एसिड sanjiv navgeet acid
Satyan Srivastava
43
यदि किसी कारणवश गुर्दे की छानने की क्षमता कम हो जाए -तो यह यूरिया में यूरिक एसिड बदल जाता है- जो कि बाद में हड्डियों में जमा होजाता है जिस कारण व्यक्ति को दर्द रहने लगता है-यूरिक एसिड प्‍यूरिन के टूटने से बनता है- वैसे तो यूरिक एसिड शरीर से बाहर पेशाब के रूप में नि...
 पोस्ट लेवल : Uric-acid
sanjiv verma salil
5
नवगीत-*एसिड की शीशी पर क्यों हो नाम किसी का?*अल्हड, कमसिन, सपनों को आकार मिल रहा। अरमानों का कमल यत्न-तालाब खिल रहा।दिल को भायी कली भ्रमर गुंजार करे पर-मौसम को खिलना-हँसना क्यों व्यर्थ खल रहा?तेज़ाबी बारिश की जिसने पात्र मौत का-एसिड की शीशी पर क्यों हो नाम किसी का?...
 पोस्ट लेवल : नवगीत संजीव एसिड sanjiv navgeet acid
MediaLink Ravinder
840
Sat, Jun 20, 2015 at 4:14 PMNukkad Natak upholds the idea of Stop Acid Attack Ludhiana, 19th June, 2015: (Shalu Arora//Peoples Media Link):Fortis Hospital Ludhiana organised Nukkad Natak on “Tejab (Stop Acid Attack)” at various places in Ludhiana. The purpos...
 पोस्ट लेवल : Ludhiana Shalu Arora Nukkad Natak Drama Acid Attack Stage