ब्लॉगसेतु

Kajal Kumar
18
Kajal Kumar
374
क अपने बेटे के बारे में बहुत चिंतित रहता था.ख – ‘क्या हुआ, क्यों दु:खी रहते हो?’क – ‘क्या बताऊं, बेटा कहता है कि वह बड़ा होकर अर्थशास्त्री बनेगा.’ख – ‘तो इसमें दु:खी होने की क्या बात है? ये तो अच्छी ही बात है, आजकल अर्थशास्त्र बहुत अच्छा विषय माना जाता है भई.’क –...
सांगरी दर्पण
130
DEVENDER VERMAFather's Name: Bhagwan DassDOB:    16/6/64DOA:       27/8/92  as VT(TGT)                 1/4/1999 Regular TGT                 ...
 पोस्ट लेवल : LECTURER ECONOMICS