ब्लॉगसेतु

आदित्य सिन्हा
401
F for FugitiveAll were there , but he was missing his father. The Priest reads out the mantras and the two encircle the holy fire and get tied in the holy knot.Shambhu's hand moves up to bestow his blessings on the duo, hiding behind the bamboo trees covering...
Sanjay  Grover
400
एक बार मैंने फ़्लैट बेचने के लिए अख़बार में विज्ञापन दे दिया, बाद में उसे 4-5 बार रिपीट भी करवा दिया। एक सज्जन (लिखते समय थोड़ा शिल्प-शैली का ध्यान रखना पड़ता है वरना ‘श्रेष्ठजन’ उखड़ जाते हैं:-) जो प्रॉपर्टी का काम करते थे, मेरे पास चले आए कि हमारे होते अख़बार में विज...
Sanjay  Grover
608
बच्चों की भलाई के लिए काम करनेवाली एक संस्था से आज एक फ़ोन आया। काफ़ी नाम वाली संस्था है। एक भली लड़की बच्चों की किसी योजना का विवरण देने लगी। बच्चों के लिए आर्थिक मदद मांगनेवाले फ़ोन कई बार आते हैं। मैंने भली लड़की से कहा कि मैं आपको बीच में टोक रहा हूं पर आपको बता दूं...
Sanjay  Grover
416
सभी नालायक एक-दूसरे को बहुत लाइक/पसंद करते हैं।एक जैसे जो होते हैं।वैसे वे किसी काम के हो न हों पर एक-दूसरे के बहुत काम आते हैं।मिलजुलकर भी अकेले सच से वे डरते हैं।अंततः एक दिन वे ख़ुदको श्रेष्ठ और अकेले सचको नालायक घोषित कर देते हैं।मज़े की बात यह है कि उसके बाद भी...
Sanjay  Grover
400
‘मैं तुम्हारे लिया दुआ करता हूं’ का मतलब है-1. कोई चमत्कार हो जाए और तुम्हारी सब समस्याएं ख़त्म हो जाएं...2. दुआ दरअसल एक बहुत बड़ा काम है जो कि मैं तुम्हारे लिए करता हूं.....3. मेरी सामाजिकता/ऊंगली की वजह से ही तो तुम पर मुसीबत/बीमारी  आई है इसलिए मैं तुम...
Sanjay  Grover
400
अगर गांधी गांधीवाद के बिना, अंबेडकर अंबेडकरवाद के बिना, मार्क्स मार्क्सवाद, नेहरु जेएनयू के बिना पैदा हो सकते हैं और महत्वपूर्ण काम कर सकते हैं (वैसे मेरी कोई गारंटी नहीं है कि इन्होंने जो भी किया अच्छा ही किया, मैं इनमें से किसीसे भी नहीं मिला, बस क़िताबों, फ़िल्मों...
Sanjay  Grover
703
लघुकथाबहुत-से लोग चाहते हैं कि उनपर कोई फ़िल्म बनाए।हालांकि उनमें से कईयों की ज़िंदगी पहले से ही फ़िल्म जैसी होती है।उनके द्वारा छोड़ दिए गए सारे अधूरे कामों को फ़िल्मों में पूरा कर दिया जाता है।किसीने कहा भी है कि ज़िंदगी में किसी समस्या से निपटने से आसान है फ़िल्म में उ...