ब्लॉगसेतु

sivind singh
349
Shree Guru Nanak Dev ji wallpaper  free download
 पोस्ट लेवल : HINDU GOD IMAGE
Sanjay  Grover
393
कहते हैं कि भगवान कुछ भी कर सकता है !चलिए, ज़रा आज़माते हैं-भगवान अगर है तो संविधान उसकी मर्ज़ी से ही बना होगा।लेकिन असंवैधानिक काम जगह-जगह पर हो रहे हैं !यहां जातिभेद होता है।यहां रंगभेद होता है।यहां स्त्री और पुरुष में भेद होता है।सिर्फ़ दिल्ली में ही, वो भी पैसेवाल...
sivind singh
349
..............................
 पोस्ट लेवल : HINDU GOD IMAGE
sivind singh
349
..............................
 पोस्ट लेवल : HINDU GOD IMAGE
sanjiv verma salil
5
सड़गोड़ासनी: बुंदेली छंद, विधान: मुखड़ा १५-१६, ४ मात्रा पश्चात् गुरु लघु अनिवार्य,अंतरा १६-१२, मुखड़ा-अन्तरा सम तुकांत . * जन्म हुआ किस पल? यह सोच मरण हुआ कब जानो? *जब-जब सत्य प्रतीति हुई तबकह-कह नित्य बखानो.*जब-जब सच ओझल हो प्यारे!निज करनी अनु...
sivind singh
349
 God Photos HD free Download ,गॉड गुड मॉर्निंग वॉलपेपर ,इमेज फोटोज डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें  God image, God photos download , God photos hd free download   गॉड फोटो  डाउनलोड ,ईश्वर है या नहीं इसका जवाब किसी को न मिला न मिलेगा&nbs...
 पोस्ट लेवल : HINDU GOD IMAGE
sivind singh
349
भगवान की फोटो डाउनलोड करें , भगवान फोटो download, hindu godimages free download, देवी देवताओं की फोटो डाउनलोडकरें ,hindu godimages free download for mobile, शंकर भगवान के फोटो डाउनलोड,शंकर भगवान के फोटो ,कृष्ण भगवान के फोटो डाउनलोड,भगवान के वॉलपेपर pics,image...
 पोस्ट लेवल : HINDU GOD IMAGE
sivind singh
349
Jo Kal Tha Use Bhool Kar To Dekho,Jo Aaj Hai Use Jee Kar To Dekho,Aane Wala Pal Khud HiSawar Jayega,Ek Baar “JAI SHREE KRISHNA” Bol Kar To Dekho. जो  कल  था  उसे  भूल  कर  तो  देखो ,जो  आज  है  उसे  जी&nbs...
 पोस्ट लेवल : GOD SHAYARI
Sanjay  Grover
393
ईश्वर के होने या न होने पर आपको इंटरनेट पर ख़ूब विचार और बहसें दिखाई देंगे। प्रिंट मीडिया में भी मुख्यधारा के पत्र-पत्रिकाएं न सही, मगर बहुत-से अन्य पत्र-पत्रिकाएं इसपर विचार चलाते रहे हैं।मगर भारतीय फ़िल्में और इलैक्ट्रॉनिक मीडिया !?ज़ाहिर है कि इस मामले में बुरी तर...
Sanjay  Grover
393
 लोग भगवान को मानते हुए भी नास्तिकों के खि़लाफ़ हैं, वे भगवान के ही खि़लाफ़ हैं। क्योंकि जिस भगवान की मर्ज़ी के बिना पत्ता भी नहीं हिलता वो अगर न चाहता तो नास्तिक कैसे हो सकते थे ? और अगर भगवान चाहता है कि नास्तिक पृथ्वी पर हों तो आप क्यों चाहते हैं कि वे न हों?...