ब्लॉगसेतु

Bharat Tiwari
26
आइये मेरे जैसे स्वार्थी बन जाइये — अभिसार शर्मामैं नहीं चाहता के भारतीय Passport शर्मिन्दगी का सबब बने। — अभिसार शर्मागाय और मजहब के नाम पर हत्या — जिसे हम अब mob lynching का नाम देते हैं —  उसके नंगे नाच के खिलाफ मेरे विरोध के कुछ निजी कारण हैं। आप...
Bharat Tiwari
26
Illustration: Chad Crowe (TOI)सिन्दूर, चमेली और गेंदाफूल, संस्कृति से सराबोर तुम्हारी आस्था जीवन का आनंद हैSagarika Ghosh's TOI Blog : Translation - Bharat  Tiwariआप के ऊपर न तो कभी किसी धार्मिक-पुलिस ने शासन किया है और न ही ख़ुद को हिन्दू जताने के लिए आपको किस...
Bharat Tiwari
26
किस बात का जंगलराज? कैसा भीड़तंत्र? सब सही चल रहा है। All is well! — अभिसार शर्मा7 लोग मार दिए गए। बीजेपी-शासित झारखंड में। शक के आधार पर। व्हाट्सएप पर एक अफवाह के आधार पर। आरोप था बच्चा चोरी का। बच्चे चोरी ही नही हुए और 7 घरों के चिराग तुमने बुझा दिए! (adsbygo...
Bharat Tiwari
26

साहित्य एक समोसा — सुधीश पचौरीमैं देख रहा था कि साहित्य का अंत हो रहा है और उसका चिर सखा समोसा कोने में पड़ा रो रहा है।मुझे पता था कि एक दिन ऐसा आएगा कि मंडी हाउस के गोल चक्कर के बीच खडे़ होकर साहित्य बिसूरता हुआ मिलेगा। किशोर कुमार का पुराना गीत गाता हुआ —&nbs...
Bharat Tiwari
26
जैसे Good Taliban Bad Taliban, वैसे ही ये हैं Good गुंडे। दाग अच्छे हैं। ये गुंडे अच्छे हैं।किसी के बाप का हिन्दोस्तान थोड़ी है— अभिसार शर्मा (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); तुम्हे अंदाजा है तुमने क्या सामान्य बना दिया है? ग्रेटर नॉएडा में दो हिन...
Bharat Tiwari
26
ये आख़िर हम किस तरह के राक्षस बनते जा रहे हैं- अभिसार शर्माAbhisar Sharma's status in english... translated to Hindiमुझे हमेशा से इस बात का गर्व था कि भारतीय मीडिया का नज़रिया काफी हद तक सेक्युलर है। अब ज़रा आज के टाइम्स ऑफ़ इंडिया की इस हेड लाइन को देखिये. "Mistaken a...
Bharat Tiwari
26
A pellet gun for a stone will breed a cycle of hate and violence that will strip us of all humanityRajdeep Sardesai  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); Is there anyone in and outside Kashmir today who can hold their head high with...
 पोस्ट लेवल : writeup English guest blog #Kashmir Rajdeep Sardesai News
Bharat Tiwari
26
साहित्यकारों में फैले अजनबीपन, अकेलेपन, आत्म-निर्वासन, अवसाद, आत्म-संघर्ष, वर्ग-संघर्ष, चिड़चिड़ेपन और गाली-गलौज आदि सब व्याधियों से मुक्ति दिलाने वाला बस एक ही मंत्र है (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); तू मुझे बुला, मैं तुझे बलाऊंतू...
Bharat Tiwari
26
राष्ट्रवादी जल्लाद पहलू खान को फांसी पर ही तो चढ़ाया गया है। अखलाक के बाद। ऊना मे भी ऐसा ही किया गया था। एक तरफ आपके नेता अनापशनाप बयान देते हैं, जिसे सुनकर राष्ट्रवादी गुंडे लोगों को फांसी पर चढ़ाने पहुंच जाते हैं।  (adsbygoogle = window.adsbygo...
Bharat Tiwari
26

दी और दा हिंदी में एक ऐसा ‘लिटररी स्फीयर’ बनाते हैं कि उसकी फॉर्म कुछ होती है, और कंटेंट कुछ और होता है