ब्लॉगसेतु

sanjiv verma salil
7
हिंदी वंदना हिंद और हिंदी की जय-जयकार करें हम भारत की माटी, हिंदी से प्यार करें हम *भाषा सहोदरी होती है, हर प्राणी की अक्षर-शब्द बसी छवि, शारद कल्याणी की नाद-ताल, रस-छंद, व्याकरण शुद्ध सरलतम जो बोले वह लिखें-पढ़ें, विधि जगवाणी की स...
sanjiv verma salil
7
हिंदी वंदना हिन्द और हिंदी की जय-जयकार करें हम भारत की माटी, हिंदी से प्यार करें हम *भाषा सहोदरी होती है हर प्राणी की अक्षर-शब्द बसी छवि शारद कल्याणी की नाद-ताल, रस-छंद, व्याकरण शुद्ध सरलतम जो बोले वह लिखें-पढ़ें विधि जगवाणी की&nbs...
 पोस्ट लेवल : संजीव hindi geet sanjiv हिंदी गीत
girish billore
93
..............................
girish billore
93
..............................
अविनाश वाचस्पति
272
स्मृति दीर्घा:संजीव 'सलिल' *स्मृतियों के वातायन से, झाँक रहे हैं लोग...*पाला-पोसा खड़ा कर दिया, बिदा हो गए मौन.मुझमें छिपे हुए हुए है, जैसे भोजन में हो नौन..चाहा रोक न पाया उनको, खोया है दुर्योग...*ठोंक-ठोंक कर खोट निकली, बना दिया इंसान.शत वन्दन उनको, दी सीख 'न कर म...
girish billore
93
..............................
girish billore
93
..............................
 पोस्ट लेवल : sanjv 'salil' navgeet hindi geet