ब्लॉगसेतु

राजीव तनेजा
0
“ओह!…शिट..पहुँच जाना चाहिए था अब तक तो उसे….पता भी है कि मुझे फिल्म की स्टार्टिंग मिस करना बिलकुल भी पसंद नहीं”… “कहीं ट्रैफिक की वजह से तो नहीं…इस वक्त ट्रैफिक भी तो सड़कों पे बहुत होता है लेकिन अगर ऐसी ही बात थी तो घर से जल्दी निकलना चाहिए था उसे"सड़क पे भारी...
राजीव तनेजा
0
ट्रिंग…ट्रिंग….ट्रिंग…ट्रिंग… “ह्ह….हैलो…श्श….शर्मा जी?”… “हाँ!…जी….बोल रहा हूँ…आप कौन?”… “मैं…संजू”….. “संजू?”….. “जी!….संजू…..पहचाना नहीं?…..राजीव तनेजा की वाईफ"…. “ज्ज…जी भाभी जी….कहिये…क्या हुक्म है मेरे लिए?…..सब खैरियत तो है ना?”… “अरे!…खैरियत...
राजीव तनेजा
0
पति:डार्लिंग…फटाफट तैयार हो जाओ…फिल्म की टिकट लाया हूँ… पत्नी(खुश होकर):अरे!…वाह…कौन सी फिल्म है? पति:सात खून माफ पत्नी(मुँह बनाते हुए):दिमाग घास चरने चला गया है क्या तुम्हारा?…..मुझे नहीं देखनी ये बकवास फिल्म पति:अरे!…तुम्हें नहीं पता…बहुत बढ़िया फिल्म है...
राजीव तनेजा
0
"अजी!…सुनते हो...चुप कराओ ना अपने लाडले को…रो-रो के बुरा हाल करे बैठा है…चुप होने का नाम ही नहीं ले रहा…लाख कोशिशे कर ली पर जानें कौन सा भूत सर पे सवार हुए बैठा है कि उतरने का नाम ही नहीं ले रहा"… "अब क्या हुआ?…सीधी तरह बताती क्यों नहीं?"…&#16...
राजीव तनेजा
0
***राजीव तनेजा*** ठक...ठक... ठक्क...ठक्क “लगता है स्साला!...ऐसे नहीं खोलेगा....तोड़ दो दरवाज़ा”… "जी!…जनाब"... थाड़......थाड़...धमाक...धमाक(ज़ोर से दरवाज़ा पीटे जाने की आवाज़) "रुकिए …रुकिए …क्कौन है?".. "पुलिस...दरवाज़ा खोलो".... &...