प्रेमचंद कहते हैं कि साहित्य समाज का दर्पण है किन्तु फिल्म निर्माता और निर्देशक अनुराग कश्यप का कहना है कि सिनेमा भी समाज का दर्पण है। साहित्य के प्रथम पुरोधा भारतीय संस्कृति के अनुसार माना जाए तो वेद व्यास जी को माना जाता है और वही स्थान भारतीय सिनेमा की दृष्टि मे...