ब्लॉगसेतु

sanjiv verma salil
6
दोहा सलिला*प्रभु सारे जग का रखे, बिन चूके नित ध्यान। मैं जग से बाहर नहीं, इतना तो हैं भान।। *कौन किसी को कर रहा, कहें जगत में याद?जिसने सब जग रचा है, बिसरा जग बर्बाद*जिसके मन में जो बसा वही रहे बस यादउसकी ही मुस्कान से सदा रहे दिलशाद*दिल दिलवर दिलदार का,...
संगीता पुरी
113
हिंदू पंचाग के अनुसार करवाचौथ कार्तिक माह के चौथे दिन होता है। इस दिन जिनकी शादी होने वाली हैं या जो शादीशुदा हैं, वो अपने पति की लंबी आयु के लिए व्रत करती हैं। ये व्रत सुबह सूरज उगने से पहले से लेकर और रात्रि में चंद्रमा निकलने तक रहता है। उत्तर भारत के लगभग सभी र...
संगीता पुरी
113
आसमान में पूर्वी क्षितीज पर सूर्योदय के दो घंटे पहले तथा पश्चिमी क्षितिज पर दो घंटे बाद दिखाई देने वाले शुक्र ग्रह को आप सभी ने अवश्‍य देखा होगा। इसकी चमक एवं शान अन्य ग्रहो से बिल्‍कुल अलग व निराली होती है। ज्योतिष में शुक्र को आकर्षण , प्रेम , विवाह और दाम्‍पत्‍य...
 पोस्ट लेवल : Moon Rohini Nakshatra Karwa Chauth
sanjiv verma salil
6
मुक्तक:*चाँद हो साथ में चाँदनी रात होचुप अधर, नैन की नैन से बात हो पानी-पानी हुई प्यास पल में 'सलिल'प्यार को प्यार की प्यार सौगात हो *चाँद को जोड़कर कर मनाती रहीहै हक़ीक़त सजन को बुलाती रही पी रही है 'सलिल' हाथ से किन्तु वह प्या...