ब्लॉगसेतु

Saransh Sagar
229
जब इरादा बना ही लिया है ऊँची उड़ान भरने का ,तो देखना फ़िजूल है कद इस आसमान का Jab Irada Bana Hi Liya HaiUnchi Udaan Bharne Ka,To Dekhne Fijul Hai Kad Is Aasman Ka सारांश सागर द्वारा प्रकाशित किया गया अनुभव को सारांश में बताकर स्वयं प्रेरित...
Praveen Kumar Rajbhar
611
मै उस दिन बैंक के अन्दर गया ही था की मेरे बॉस ने फ़ोन पर कहा कि “तुम रहने दो, लौट आओ और अपनी फाइल जमा कर दो दो, काम करने की जरुरत नहीं है” | मै लौट आया, लाजपत नगर अपने ऑफिस के पास ही एक पार्क में आकर बैठ गया, सोच लिया था की अब काम नहीं करना यहाँ, वैसे भी बॉस ने बोल...
 पोस्ट लेवल : Inspiration Social Positive Thinking Motivational
Shivani Maurya
547
हर्फों के रेशमी धागें बुनकरतश्ते-ए-फ़लक पर जज़्बात लिखती हूँबिखरे लम्हों की तुरपन सी करदामन-ए-आसमां में सजा हर ख़यालात लिखती हूँये कौन है हिन्दू,मुस्लिम,सिख,ईसाईइंसान हूँ इंसानियत को सबकी ज़ात लिखती हूँ फींकी है जिसके आगे हर नेमतमाँ की दुआ को गुलशन-ए-ज़ीस्त की वो स...
 पोस्ट लेवल : poem emotion hindi poetry positive writing life love
Praveen Kumar Rajbhar
611
ये दुनिया एक क्रिकेट ग्राउंड की तरह है, और जिन्दगी उस दर्शक की तरह जो स्टेडियम में बैठ कर निहार रही हो हमें, कभी तालियाँ बजाती, चीयर करती हुई, कभी मोटीवेट करते हुए, कभी मिस हुए शॉट को देखकर कचोटते हुए, कभी गुस्से में कोसते हुए तो कभी हमारे रंग में ढलकर हमें साथ देत...
 पोस्ट लेवल : Inspiration Social Positive Thinking Motivational
Roli Dixit
163
दायरारहित सोच केबाहर का दायरा,कल्पनारहित उड़...
Roli Dixit
163
दायरारहित सोच केबाहर का दायरा,कल्पनारहित उड़...
Shivani Maurya
547
बहुत कुछ खोना पड़ता है कुछ थोड़ा-सा पाने के लिएतिनका-तिनका संजोना पड़ता है यहाँ आशियां बनाने के लिए..खुद ही मरहम लगाना पड़ता है दर्द के शरारों को सुखाने के लिएएक-एक हसीं का हिसाब देना पड़ता है यहाँ रत्ती भर खिलखिलाने के लिए..गिरेबां को सदाक़त से सजाना...
 पोस्ट लेवल : poem motivation encourage hindi life hope positive
Shivani Maurya
547
माना अँधेरा घना है पसरा हर ओरपर आस का चमकीला सितारामैं इसमें ओझल होने कैसे दूँमैं उम्मीद हूँ,तुम्हें ना उम्मीद होने कैसे दूँ|माना वीरान है दिल की ज़मींपर बीज तमन्ना का उगाये बगैरमैं इसे बंजर होने कैसे दूँमैं उम्मीद हूँ,तुम्हें ना उम्मीद होने कैसे दूँ|माना पाँव में ह...
 पोस्ट लेवल : poem motivation encourage hindi hope poetry positive
Ravi Parwani
476
सन्त एकनाथ जी की कथा Moral stories in hindi महाराष्ट्र में संत एकनाथजी का नाम बहुत ही प्रचलित है |  वह रोज सुबह सबसे पहेले उठ जाते थे और इश्वर स्मरण करते थे | सूर्य क्षितिज के ऊपर दीखता तब वह स्नान करने के लिए गोदावरी नदी में जाने को निकलते | स्नान करने क...
Babita Singh
605
..............................