ब्लॉगसेतु

Sanjay  Grover
301
Photo By Sanjay Groverग़ज़लआओ सच बोलेंदुनिया को खोलेंझूठा हंसने सेबेहतर है रो लेंपांच बरस ये, वोइक जैसा बोलेंअपना ही चेहराक्यों ना ख़ुद धो लेंराजा की तारीफ़जो पन्ना खोलें !क्या कबीर मंटो-किस मुह से बोलें !सबको उठना है-सब राजा हो लें ?वे जो थे वो थेहम भी हम हो लें बैन...
shivraj gujar
134
कुण जीतसी दस लाख रुपिया को होस्ट करेंगे राजस्थानी फिल्म निर्माता नंदकिशोर मित्तलजयपुर। राजस्थानी फिल्मों के निर्माता नंदकिशोर मित्तल अब छोटे परदे पर भी सक्रिय हो रहे हैं। वे एक राजस्थानी रियलिटी शो लेकर आ रहे हैं-कुण जीतसी दस लाख रुपिया। इसे 17 जून को सुबह 11 बजे स...
Yash Rawat
617
यह फोटो यूट्यूब से ली गयी हैभारतीय टीवी क्षेत्र में रियलिटी के नाम जो फूहड़ता परोसी जा रही है उससे आप भली भांति परिचित होंगे खासकर बच्‍चों के रियलिटी शोज में जो कुछ दिखाया जा रहा है वह बेहद शर्मनाक है। पिछले दिनों मैं बच्‍चों से संबंधित रियलिटी शो "सबसे बड़ा कलाकर" द...
Sanjay  Grover
665
दिलचस्प है कि यहां भी तीन सहेलियां हैं मगर वे अनपढ़ हैं, राजस्थानी गांव के सूखे में सूख रहीं हैं, पिट रहीं हैं, ग़रीब तो हैं ही मगर उन्हें किसी अवतार, किसी मसीहा, किसी राम, किसी कृष्ण की तलाश नहीं है। वे ग़ालियों से लेकर रंगीनियों तक पर आपस में बात करतीं हैं, बहस करती...
Mithilesh Singh
240
चादर तान कर किसकोसोना अच्छा नहीं लगताअधखुली आँख से तब औरसपने बेहतर से दिखते हैंकुछ-कुछ 'दिवा-स्वप्न' सेआह! मगर ज़िन्दगी के थपेड़ेजगाते हैं, झिंझोड़कर अचानकटूटते हैं तब 'दिवा-स्वप्न' बरबसऔर मजबूर होते हैं सब, क्योंकिभागते रहे थे हम दूर हकीकत सेवह खोजते रहे पल ख़ुशी केपि...
Mithilesh Singh
240
बड़ी सरगर्मी थी फिल्म इंडस्ट्री में. गलाकाट प्रतिस्पर्धा और कास्टिंग काउच के सबसे बड़े केंद्र के रूप में कुख्यात बॉलीवुड में लोग एकता का प्रदर्शन करते हुए सुपर स्टार सल्लू चौहान के घर पहुँच रहे थे. उनको किसी गरीब की हत्या के मामले में कोर्ट द्वारा सजा सुनायी गयी थी औ...
Sanjay  Grover
770
    ME      Started Fashion-designing without knowing cutting-tailoring in 1984 when people, including me, hardly knew fashion designing as an art or a career (in India's references), Convinced folk and friends to wear clothes designed...
केवल राम
316
जब समाज में मानवीय मूल्यों के विपरीत कुछ भी देखता हूँ तो एक पीड़ा का अनुभव होता है, एक टीस मन में पैदा होती है. एक दर्द उठता है और फिर जीवन की वास्तविकता को समझने का सिलसिला शुरू होता है. गतांक से आगे......!!! जब हम मानवीय मूल्यों की बात करते हैं तो हम बहुत बृहत् पर...
Bhavana Lalwani
358
इन्टरनेट एक महासागर है. प्रशांत महासागर से भी ज्यादा गहरा सागर. इसका विस्तार हमारी धरती से भी आगे तक चला गया है (ब्रह्मांड का कौनसा कोना या कोई दूर दराज की आकाशगंगा सब ही तो मौजूद है सिर्फ एक क्लिक पर).  इस सागर की गहराई ऐसी है कि संसार के सारे सागरों का पा...
Amit K Sagar
481
/* Font Definitions */ @font-face {font-family:Mangal; panose-1:0 0 4 0 0 0 0 0 0 0; mso-font-charset:1; mso-generic-font-family:auto; mso-font-pitch:variable; mso-font-signature:32768 0 0 0 0 0;} /* Style Definitions */ p.MsoNormal, li.MsoNormal, div.MsoN...
 पोस्ट लेवल : reality of dance shows amit k sagar ultateer