ब्लॉगसेतु

Vidyut Maurya
119
वैसे तो भीमराव आंबेडकर के जीवन पर कई किताबें लिखी गई हैं। पर क्रिस्तोफ जाफ्रलो द्वारा लिखी गई पुस्तक भीमराव आंबेडकर – एक जीवन एक शोधपरक पुस्तक है। मूल रूप से अंग्रेजी में लिखी गई इस पुस्तक का हिंदी अनुवाद योगेंद्र दत्त ने किया है।ये पुस्तक कोरी जीवनी नहीं है। लेखक...
 पोस्ट लेवल : SAMAJ
Vidyut Maurya
119
साल 2020 के फरवरी के आखिरी सप्ताह में दिल्ली दंगों की आग में झुलसी। मुझे बनारस के दंगे याद हैं। तब में काशी हिंदू विश्वविद्यालय में पढ़ता था। हालांकि हम बीएचयू कैंपस में सुरक्षित थे। पर शहर जल रहा था। ठीक इसी तरह दिल्ली में मेरे पड़ोस में मेरे घर से चार किलोमीटर आग...
 पोस्ट लेवल : SAMAJ
Vidyut Maurya
119
ब्रह्मभोज नाम है इस कथा संग्रह का। इसमें कुल 17 कहानियां हैं। इन सबका परिवेश बिहार झारखंड का गांव गिरांव है। पर लेखक अपनी शैली से आपको बांधे रखते हैं। कहने शैली सहज और चमत्कारी है। पहली कहानी पकड़वा दमदार है। यह बिहार के पकड़वा विवाह पर आधारित है।पुस्तक के लेखक सचि...
 पोस्ट लेवल : HINDI SAMAJ
Vidyut Maurya
119
भारत के लोगों के लिए भूटान घूमना महंगा हो सकता है। भूटान क्षेत्रीय देशों से पर्यटकों के आने पर शुल्क लगाने की योजना बना रहा है। इनमें मालदीव और बांग्लादेश के साथ भारत भी शामिल है। अब तक इन देशों को भूटान में पर्यटन के लिए किसी भी तरह का शुल्क नहीं देना पड़ता था।पर्...
 पोस्ट लेवल : SAMAJ
Vidyut Maurya
119
मोती लाल गोल्फ गुरु - जन्म - 1946 निधन -19 अक्तूबर 2019गोल्फ गुरु के नाम से विख्यात मोतीलाल 19 अक्तूबर 2019 को इस दुनिया को छोड़कर चले गए। उन्होंने अपने जीवन में तकरीबन 850 लोगों को गोल्फ खेलने का प्रशिक्षण दिया।मैं पिछले दो दशक से लगातार उनके संपर्क में रहा। साल 1...
 पोस्ट लेवल : SAMAJ
Vidyut Maurya
119
दुनिया में 70 करोड़ लोग ऐसे हैं जिन्हें दो वक्त की रोटी नहीं मिल पाती। साल 2019 का अर्थ शास्त्र का नोबेल पुरस्कार पाने वाले भारतवंशी अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी पिछले 30 सालों से ऐसे लोगों के लिए ही काम कर रहे हैं।दुनिया के विकासशील देशों के 568 कलस्टर में दस साल तक...
 पोस्ट लेवल : SAMAJ
Vidyut Maurya
119
मैंने गांधी की राजनैतिक साफगोई और इस्पात जैसी दृढ़ इच्छा शक्ति के लिए हमेशा उनका सम्मान किया है और उनकी प्रशंसा की है।-    चार्ली चैप्लिन ( महान फिल्मकार चार्ली चैप्लिन ने 1931 में लंदन में बापू से मुलाकात की थी। उन्होंने सन 1936 में मार्डन...
 पोस्ट लेवल : SAMAJ
Vidyut Maurya
119
यात्राएं करना जितना आह्लादकारी होता है, यात्रा साहित्य पढ़ने का सुख भी उससे कुछ कम नहीं। जहां आप जा नहीं पाते वहां लेखक के साथ यात्रा कर रहे होते हैं। हाल में मैंने एक नई पुस्तक पढ़ी – गंगा तीरे। इसके लेखक हैं वरिष्ठ पत्रकार अमरेंद्र कुमार राय। पुस्तक की शुरुआत उत्...
 पोस्ट लेवल : SAMAJ
Vidyut Maurya
119
फेनी के उस पार महज एक यात्रा  वृतांत नहीं है। पूर्वोत्तर के राज्य त्रिपुरा पर लिखी यह पुस्तक वहां के जनजातियों के जीवन पर बड़ी सूक्ष्म रूप से प्रकाश डालती है। मैं दो बार त्रिपुरा की यात्रा कर चुका हूं पर पुस्तक पढ़ते हुए यूं लगा कि तीसरी यात्रा पर निकल चुका हू...
 पोस्ट लेवल : SAMAJ
Vidyut Maurya
119
ओडिशा के रसगुल्ला को सोमवार को जीआई (जियोग्राफिकल इंडीकेशन अर्थात भौगोलिक सांकेतिक) टैग की मान्यता मिल गई है। भारत सरकार के जीआई रेजिस्ट्रेशन की तरफ से यह मान्यता दी गई है। जीआई मान्यता को लेकर चेन्नई जीआई  रजिस्ट्रार की तरफ से विज्ञप्ति जारी कर...
 पोस्ट लेवल : SAMAJ