ब्लॉगसेतु

sanjiv verma salil
6
बुंदेली कहानीकचोंटडॉ. सुमन श्रीवास्तव*सत्तनारान तिबारीजी बराण्डा में बैठे मिसराजी के घर की तरपीं देख रअे ते और उनें कल्ल की खुसयाली सिनेमा की रील घाईं दिखा रईं तीं। मिसराजी के इंजीनियर लड़का रघबंस को ब्याओ आपीसर कालोनी के अवस्थी तैसीलदार की बिटिया के संगें तै हो गओ...
sanjiv verma salil
6
बुंदेली कहानीस्वयंसिद्धाडॉ. सुमन श्रीवास्तव*पंडत कपिलनरायन मिसरा कोंरजा में संसकिरित बिद्यालय के अध्यापक हते। सूदो सरल गउ सुभाव। सदा सरबदा पान की लाली सें रचौ, हँसत मुस्कात मुँह। एकइ बिटिया, निरमला, देखबे दिखाबे में और बोलचाल में बिलकुल ‘निर्मला’। मिसराजी मोड़ी के म...
sanjiv verma salil
6
ॐपुस्तक सलिलां-‘सरे राह’ मुखौटे उतारती कहानियाॅआचार्य संजीव वर्मा 'सलिल'[पुस्तक परिचय- सरे राह, कहानी संग्रह, डाॅं. सुमनलता श्रीवास्तव, प्रथम संस्करण २०१५, आकार २१.५ से.मी. x १४ से.मी., आवरण बहुरंगी पेपरबैक लेमिनेटेड जैकट सहित, मूल्य १५० रु., त्रिवेणी परिषद प्रकाशन...
sanjiv verma salil
6
विदुषी कहानीकार सुमन श्रीवास्तव केजन्मदिवस पर प्रणतांजलि:*सुमन लिए श्री धरा पर, देती गंध बिखेरआ महेंद्र ने समेटा, किंचित करी न देर *सुर वाणी से स्नेह है, जग वाणी से प्यारकलम सु-मन के भाव को, देती सतत निखार*शत वर्षों तक सृजन से, भर हिंदी का कोषसकल जगत में व्याप...
sanjiv verma salil
6
बुंदेली कहानीकचोंट डॉ. सुमन श्रीवास्तव *                         सत्तनारान तिबारीजी बराण्डा में बैठे मिसराजी के घर की तरपीं देख रअे ते और उनें कल्ल की खुसयाली सिनेमा की रील घाईं दिखा रईं तीं...
sanjiv verma salil
6
बुंदेली कहानीस्वयंसिद्धा डॉ.  सुमन श्रीवास्तव *                         पंडत कपिलनरायन मिसरा कोंरजा में संसकिरित बिद्यालय के अध्यापक हते। सूदो सरल गउ सुभाव। सदा सरबदा पान की लाली सें रच...