ब्लॉगसेतु

Bharat Tiwari
25
निश्चित ही हरेक के पास पूरी आजादी है कि वह किस विचारधारा को अपनाए। लेकिन किसी को भी यह अधिकार नहीं कि अपनी विचारधारा को पोषित करने के लिए तथ्यहीन टिप्पणिया करे या फिर सोशल मीडिया में प्रतिदिन लाखों की तादात में फेंके जा रहे ‘कूड़े’ को अपना समर्थन दे — अपूर्व जो...
Bharat Tiwari
25
DP Tripathi Dies, DP Tripathi, a big literary figure of politics, Senior NCP Leader Passes awayहाल ही में हिंदी को वर्तमान राजनीति में उसके सबसे बड़े साहित्यप्रेमी देवी प्रसाद त्रिपाठी के निधन का सामना करना पड़ा है.  प्रखर युवा कहानीकार भूमिका द्विवेदी अश्क के उ...
Bharat Tiwari
25
दिल्ली, इन्द्रप्रस्थ से शाहजहांबाद तक— नलिन चौहानदिल्ली हिंदुस्तान की राजधानी है। यह अकेला ऐसा शहर है, जिसका इतिहास देश के इतिहास से गुंथा हुआ है। इस शहर की पहचान यानि उसके नामों को लेकर कई ऐतिहासिक मत हैं। समय की धारा में इस शहर के अनेक पर्यायी नाम प्रचलन में रहे...
Bharat Tiwari
25
टीआरपी के बिसातियोंन प्राइम टाइम में हंगामा मचा और न कोई कवर स्टोरी सामने आयी अनब्याही माता होने की पीढ़ीगत परम्परा के अनगिनत महीन और भद्दी वजहों को तलाशता कोई नौकरशाह नहीं मिला, कोई समाजसेवी भी नहीं और कोई पत्रकारनुमा सोशल एक्टिविस्ट भी नहीं दिखा। तब ऐसी खबरें...
Bharat Tiwari
25
#पत्र_शब्दांकन: मृदुला गर्ग नया ज्ञानोदय, सितम्बर २०१९ कथा-कहानी विशेषांक आदि परकहते हैं फंतासी को चारों पैरों पर खड़ा होना चाहिए वरना न फंतासी रहती है, न सच...कहानी 'नरम घास, चिड़िया और नींद में मछलियां')  मैने 'नया ज्ञानोदय' में ही पढ़ ली थी। बहुत ही शानदा...
Bharat Tiwari
25
‘आइटी सेल’ मानसिकता का विषाणु उदारवाद, लोकतंत्र और सामाजिक न्याय की पक्षधरता का दावा करनेवाले के मस्तिष्क को भी संक्रमित कर रहा है — प्रकाश के रेसम्पादकीयरवीश कुमार के सम्मान से चिढ़ क्यों!— प्रकाश के रेपिछले महीने जब रवीश कुमार को पत्रकारिता के क्षेत्र में उत...
Bharat Tiwari
25
निदा फ़ाज़ली के शायरी से इतर— अब कहाँ दूसरे के दुख से दुखी होने वालेगर्मी है. बच्चों की छुट्टी है. आज सूरज को दिल्ली को ४० डिग्री के ऊपर तपाते हुए चौथा दिन है. बच्चों के साथ कमरे में मैं और सिम्बा गर्मी से वातानुकूलित माहौल में आराम से बैठे हैं. आरुषि ने फिनिय...
Bharat Tiwari
25
Mahatma Gandhi talking to a delegation of Rashtriya Sevak Sangh RSS; 1944; Pyarelal Nayar - 1944 | Photo credit: www.alamy.comभारत-पाक और महादेश की मजहबी कड़वाहट के बीच गांधी — नलिन चौहानअगस्त 1947 में मजहब के आधार पर खंडित राष्ट्र का परिणाम भारत और पाकिस...
Bharat Tiwari
25
"मेरी दाढ़ी और मेरा मुल्क" के बहाने, विश्व स्तर पर भारत की पहचान और डॉ सच्चिदानंद जोशीमुझे याद आ गया 1984 का साल। उन दिनों भी मैं दाढ़ी रखा करता था। ये वो काल था जब इश्क़ में मार खाये आशिकों में और नौकरी की तलाश में घूम रहे बेरोजगारों में दाढ़ी रखने का फैशन आम था। अपन...
Bharat Tiwari
25
सवारी-सवारी-सवारी !!! पुल बंगश — चद्दरवाला — भोलू शाह | नलिन चौहान संग दिल्लीनलिन चौहान का दिल्ली पर लिखा हर वाक्य मेरा प्रिय होता जा रहा है. उन्हें पढ़ते हुए यह लगातार महसूस होता रहता है कि नयी से लेकर ट्रांस यमुना से एनसीआर से लुटियन, पुरानी  वगैरह वगैर...