ब्लॉगसेतु

अरुण कान्त शुक्ला

 छत्तीसगढ़, भारत   पुरुष

नौकरी पेशा रहा , जीवन भर ट्रेड युनियन में कार्य किया , प्रारंभ से लेखन में रुची रही , राजनीतिक विषयों पर लिखता हूँ | एक कहानी भी लिखी है| कवितायेँ और व्यंग्य भी लिखे हैं..कोई किताब अभी तक नहीं छपी|