ब्लॉगसेतु

अशोक पाण्‍डेय

 बिहार, भारत   पुरुष

अध्‍ययन के बाद पहले पत्रकारिता से जुड़ा, फिर किसानी से। यही दो किनारों के बीच जिंदगी का साथ निभा रहा हूं।