ब्लॉगसेतु

रणधीर सुमन
15
प्रगतिशील लेखक संघ के अग्रणी नेता, सुप्रसिद्ध शायर व कम्युनिस्ट आंदोलन के महत्पूर्ण अगुवा कैफी आजमी की पत्नी शौकत आजमी का निधन हो गया है।जब कैफी आजमी ने यह शायरी पढनी शुरू कि--'कद्र अब तक तेरी तारीख ने जानी ही नहीं, तुझमें शोले भी हैं बस अश्क फिशानी ही नहीं। तू हकी...
Arshia Ali Ali
76
कैसे बचे जेट लेग से ?कैसे मिले निजात हवाई थकान से ?आप सवेरा (सुबह ) होने पर खुद -बा- खुद जाग जाते हैं।इसके लिए कतई जरूरी नहीं है के मुर्गा बोले। आप अलार्म लगाके सोवें। पुराने बुजुर्ग इस कला में माहिर थे तब न शिफ्टें होती ही  थीं  (काम की पा...
MediaLink Ravinder
795
हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री ने की रक्षा मंत्री से भेंट नई दिल्ली: 22 नवंबर 2019: (देवभूमि स्क्रीन)::मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज नई दिल्ली में केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की तथा उनसे रोहतांग टनल के कार्य में तेजी लाने का आग्रह किया ता...
MediaLink Ravinder
24
प्रविष्टि तिथि: 22 NOV 2019 5:31PM by PIB Delhi जल संकट पर गजेन्द्र सिंह शेखावत ने कही बहुत ही महत्वपूर्ण बातें  जलदूत संवर्ग विचाराधीन:श्री रत्तन लाल कटारिया The Union Minister for Jal Shakti, Shri Gajendra Singh Shekhawat presenting a memento to th...
Yashoda Agrawal
8
सादर अभिवादन...ज़ियादा दिन नहीं न बचे हैंदिसम्बर बस आने का कुलबुला रहा हैआने दो आएगा और चला भी जाएगाहमें क्या.....अपन तो आज की रचनाएँ देखते हैं.....पढ़ा-लिखा इंसान भी अंधविश्वासी क्यों और कैसे बनता हैं?पढ़े-लिखे इंसानों का भी अंधविश्वासी होने का कारण उनकी परवरिश में...
 पोस्ट लेवल : 183
sanjiv verma salil
6
सरस्वती स्तवन बृज *मातु! सुनौ तुम आइहौ आइहौ, काव्य कला हमकौ समुझाइहौ फेर कभी मुख दूर न जाइहौ गीत सिखाइहौ, बीन बजाइहौ श्वेत वदन है, श्वेत वसन है श्वेत लै वाहन दरस दिखाइहौ छंद सिखाइहौ, गीत सुनाइहौ,...
sanjiv verma salil
6
छोड़ गया मितवा :नहीं रहे रामसेवक साहू 'रम्मू'मुक्तिकारामसेवक राम सेवक हो गए*कुछ कहा जाता नहीं है क्या कहूँ?मित्र! तुमको याद कर पल-पल दहूँ।चाहता है मन कि बनकर अश्रु अबनर्मदा में नेह की गुमसुम बहूँमोह बंधन तोड़कर तुम चल दिएयाद के पन्ने पलटकर मैं तहूँकौन समझेगा कि क्या...
 पोस्ट लेवल : रामसेवक साहू 'रम्मू'
अनीता सैनी
41
प्रति वर्ष आते हो तुम लाखों की तादात में इस बार हुआ क्या ऐसा प्रवासी पक्षी तुम्हारी जान को सर्दियों में मेहमान बन मेरे  मान मेरा बढ़ाते हो  ख़ुशी से सीना मेरा  फूला नहीं समाता है गर्वित हो उठती हूँ देखो !तुम्हारे...
4
--काँगरेस को चाहिए, सत्ता का उपभोग।शिवसेना के साथ अब, देगी वो सहयोग।।--साँप-छछूँदर का हुआ, बहुत अटपटा मेल।होता सबसे अलग है, राजनीति का खेल।।--शिवसेना का जान लो, पहले खूब मिजाज।उड़ना बहुत सम्भालकर, सियासती परवाज।।--गठबन्धन में हैं नहीं, एक समान विचार।भा...
 पोस्ट लेवल : बहुत अटपटा मेल दोहे
Meena Bhardwaj
14
शाश्वत आभामनस्वी नगपतिआदि सृष्टि सीस्वर्णिम रश्मियांसौन्दर्य स्थितप्रज्ञमानस-सरअमृत सम अम्बुनिर्बन्ध मुक्तसुषमा नैसर्गिकदृग-मन विस्मितपुष्प गुच्छ सीसुवासित मधुरम्विबुध धराहिमगिरि आंचलप्रकृति अनुपम★★★★★
 पोस्ट लेवल : ताँका