ब्लॉगसेतु

दिनेशराय द्विवेदी
20
21 अक्टूबर, 1928 को ‘नवजीवन’ में गांधीजी ने लिखा - ‘बोल्शेविज्म को जो कुछ थोड़ा-बहुत मैं समझ सका हूं वह यही कि निजी मिल्कियत किसी के पास नहीं हो— प्राचीन भाषा में कहें तो व्यक्तिगत परिग्रह न हो। यह बात यदि सभी लोग अपनी इच्छा से कर लें, तब तो इसके जैसा कल्याणकारी का...
S.M. MAsoom
62
इन्ना लिल्लाहि व इन्ना इलैहे  राजिउनअफ़सोस अद अफ़सोस जौनपुर सिपाह के रहने वाले सय्यद ताजदार हुसैन ज़ैदी (लड्डन ) उर्फ़ फ़िक्र पार्वी  इब्ने सय्यद ज़ुल्फ़िक़ार हुसैन ज़ैदी का इंतेक़ाल आज अलीगढ में हो गया | मरहूम की तद्फीन अलीगढ में  होगी |www.jaunpurazadari.com...
 पोस्ट लेवल : Death news
Prashant Kumar Prajapati
572
मध्यप्रदेश के किसी भी कॉलेज की पूरी जानकारी कैसे निकालेंNiche Di Gayi link par jakar aap check kar sakte hain Madhya Pradesh ke kisi bhi college ki full jankari jaise wahan par student kitne hai collage kaisi hai library Kitni kaisi hai wahan par Khel Ka Maidan kai...
kuldeep thakur
1
सभी को यथायोग्यप्रणामाशीषसबने कहा एक दिन कोई विशेष नहीं हो सकताहर पल पुकारी जा सकती हैमाँलिखने बेठा तारीफ तो लफ्ज़ ही ना मिल पाये लिख सकू क़तरा भी खुद पर मुझे नाज़ हो जायेना इबादत से मिली है ना हसरत में खिली है जन्नत है कही तो बस माँ के कदमो में मिली हैमाँमे...
 पोस्ट लेवल : 1408
Yashoda Agrawal
2
गर चंद तवारीखी तहरीर बदल दोगे क्या इनसे किसी कौम की तक़दीर बदल दोगे जायस से वो हिन्दी की दरिया जो बह के आई मोड़ोगे उसकी धारा या नीर बदल दोगे जो अक्स उभरता है रसख़ान की नज्मों में क्या कृष्ण की वो मोहक तस्वीर बदल दोगे तारीख़ बताती है तु...
Yashoda Agrawal
144
सादर अभिवादन !आम चुनाव का महाकुम्भ सम्पन्न हुआ ।लोकतंत्र महोत्सव में जनता ने अपने अधिकार का प्रयोग कर विकास के कर्म पथ का वरण किया ।हर्षोल्लास से हर अवसर को उत्सव के रूप में मनाने हमारे  देश जैसी मिसाल और कहाँ…?हम भी अपनी चर्चा को आगे बढ़ाते हुए प्रस्तुत करते ह...
 पोस्ट लेवल : 41
S.M. MAsoom
84
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); इतिहास की किताबों में वर्णित है कि एक बार ईश्वर के महान फ़रिश्ते हज़रत जिब्रईल हज़रत सुलैमान पैग़म्बर के पास आए तो अमृत का एक प्याला लाए और कहने लगेः महान ईश्वर ने आपको यह अधिकार दिया है कि अगर आप इस प्याल को पी...
 पोस्ट लेवल : editorial
Vidyut Maurya
48
( महिला सांसद - 72 ) मीनाक्षी नटराजन 15वीं लोकसभा में मंदसौर से कांग्रेस पार्टी के टिकट पर चुनाव जीतकर पहुंची। एक सांसद के तौर पर उनका जीवन इतना सादगी भरा था कि उन्होंने अपने लिए अलग से बंगला लेने से इनकार कर दिया। वे पांच साल कांग्रेस दफ्तर में एक कमरे में ही रहीं...
 पोस्ट लेवल : RAJKAJ
Vidyut Maurya
11
गेटवे ऑफ इंडिया पर हमलोग रात 8 बजे पहुंचे हैं। हमारी ट्रेन रात 12 बजे मुंबई सेंट्रल से है। हमने एक टैक्सी वाले से बात की। हमें बबूलनाथ मंदिर जाना है। मुंबई में टैक्सी वाले मीटर से चलते हैं। तो हमलोग एक टैक्सी में बैठ गए। उन्होंने हमें बबूलनाथ मंदिर के प्रवेश द्वार...
 पोस्ट लेवल : TEMPLE MAHARASTRA
शिवम् मिश्रा
4
सभी हिंदी ब्लॉगर्स को नमस्कार। करतार सिंह सराभा (अंग्रेज़ी: Kartar Singh Sarabha, जन्म- 24 मई, 1896, लुधियाना; मृत्यु- 16 नवम्बर, 1915) भारत के प्रसिद्ध क्रान्तिकारियों में से एक थे। उन्हें अपने शौर्य, साहस, त्याग एवं बलिदान के लिए हमेशा याद किया जाता रहेगा। म...