ब्लॉगसेतु

अनीता सैनी
1
स्नेहिल अभिवादन. महिला अधिकारों एवं नारी सशक्तिकरण जैसे अहम सामाजिक विषयों को असरदार बनाने के लिए सरकार की ओर से महिला आयोग का गठन किया गया. आज हम देख पा रहे हैं कि महिला आयोग चर्चाओं से बाहर है. इसका कारण है कि आजकल ख़बरों की प्राथमिकताएं बदल गयीं हैं. महिला उ...
kumarendra singh sengar
29
आज कुछ लिखने का मन नहीं हो रहा था किन्तु कल से ही दिमाग में, दिल में ऐसी उथल-पुथल मची हुई थी, जिसका निदान सिर्फ लिखने से ही हो सकता है. असल में अब डायरी लिखना बहुत लम्बे समय से बंद कर दिया है. बचपन में बाबा जी द्वारा ये आदत डाली गई थी, जो समय के साथ परिपक्व होती रह...
sanjiv verma salil
5
नवगीत सुनो शहरियों!संजीव वर्मा 'सलिल'*सुनो शहरियों! पिघल ग्लेशियर सागर का जल उठा रहे हैं जल्दी भागो। माया नगरी नहीं टिकेगी विनाश लीला नहीं रुकेगी कोशिश पार्थ पराजित होगा श्वास गोपिका पुन: लुटेगी बुनो शहरियों !अब मत सपने&...
 पोस्ट लेवल : नवगीत सुनो शहरियों!
kavita verma
245
हर स्त्री और पुरुष के भीतर बहती है अंतस की नदीhttps://storymirror.com/read/story/hindi/25sskg1s/ants-kii-ndii/detail
sanjiv verma salil
5
कृति चर्चा -'अपने शब्द गढ़ो' तब जीवन ग्रन्थ पढ़ो आचार्य संजीव वर्मा 'सलिल'*[कृति विवरण - अपने शब्द गढ़ो, गीत-नवगीत संग्रह, डॉ. अशोक अज्ञानी, प्रथम संस्करण २०१९, आईएसबीएन ९७८-८१-९२२९४४-०-७, आकार २१ से.मी. x १४ से.मी., आवरण पेपरबैक बहुरंगी, पृष्ठ १३८, मूल्य १५०/-,...
सुशील बाकलीवाल
342
        इन दिनों वॉट्सएप पर एक मैसेज चलन में बना हुआ है जिसमें वर्षों बाद उन्नति के ऊंचे शिखर पर स्थापित एक छात्र अपने पूर्व प्रोफेसर से मिलने पर उसका धन्यवाद करते हुए कहता है कि सर आज मैंने जो कुछ भी हासिल किया है वो आपकी उस एक दिन की उदारता का...
Yashoda Agrawal
7
सादर अभिवादनएल्लो....जा रहा है नवम्बर भीबिना कुछ किए धरेअरे..मुख्यमंत्री तो बनवा जातामहाराष्ट्र का किसी को20 दिन हो चले हैं..चलिए ..बनेगा कोई न कोई..हमें क्याचलिए रचनाओं की ओर...बड़ा इंसान ...अनुराधा चौहानतू यहीं खड़ी रहेगी या चलकर काम करेगी।कमली ने जोरदार थप्...
 पोस्ट लेवल : 176
Noopur Shandilya
189
खयालों में रंग हों तोउन्हें दरारों में भर कररुपहली कलाकृति बनाया जा सकता है ।बेरंग चटकी ज़मीन कोकृष्ण भाव के गाढ़ेरंगों का महीन दुशालाओढ़ाया जा सकता है ।जो उपेक्षित कोने कोअपनी कलात्मकता कीसांझी सेवा से सजा देवही कृष्ण का सुदामा है ।कलाकृति : श्री कर्ण सि...
 पोस्ट लेवल : एक बात
Neeraj Jaat
19
कुछ दिन पहले मैं देहरादून के पास उदय झा जी के यहाँ बैठा था। उनका घर विकासनगर शहर से बाहर खेतों में है। चारों तरफ खेत हैं और बासमती की कटाई हो चुकी है। अब गेहूँ की बुवाई की जाएगी।अब चूँकि मैं आजीविका के लिए पूरी तरह पर्यटन के क्षेत्र में उतर चुका हूँ, इसलिए बातों-बा...
 पोस्ट लेवल : Recent Winters Uttarakhand
sanjiv verma salil
5
गीत *जो चाहेंगेवह कर लेंगेछू लेंगेकदम रोक लेनहीं कहीं भीकोई ऐसा पाश।*शब्द निशब्ददेख तितली कोभरते नित्य उड़ान।रुकेंचुकें झट क्यों न जूझतेमुश्किल से इंसान?घेरभले लेंशशि को बादलउड़ जाएँगे हार।चटकचाँदनीफैला भू परदे धरती उजियार।करे सलिल को रजताभित मिल बिछुड़ न जाए काश। क...
 पोस्ट लेवल : गीत