ब्लॉगसेतु

Sagar Das
456
..............................
Asha News
317
इस वर्ष भैरवाष्टमी 19 नवंबर 2019 (मंगलवार) को मनाई जाएगी। काल भैरव उत्तम तंत्र साधाना के लिए माना जाता है। धार्मिक मान्यताओं में बताया गया है कि भगवान शंकर का ही भैरव बाबा अवतार हैं। भैरवाष्टमी के दिन व्रत एवं षोड्षोपचार पूजन करना अत्यंत शुभ एवं फलदायक माना जाता है...
रविशंकर श्रीवास्तव
5
..............................
 पोस्ट लेवल : नाटक
रविशंकर श्रीवास्तव
5
..............................
 पोस्ट लेवल : कहानी
रविशंकर श्रीवास्तव
5
..............................
 पोस्ट लेवल : कविता
sanjiv verma salil
6
दोहे -मुक्तक अजर अमर अक्षर अजित, अमित असित अनमोल।अतुल अगोचर अवनिपति, अंबरनाथ अडोल।।*रहजन - रहबर रट रहे, राम राम रम राम।राम रमापति रम रहो, राग - रागिनी राम।।*ललित लता लश्कर लहक, लक्षण लहर ललाम।                  &nbsp...
 पोस्ट लेवल : दोहे मुक्तक
sanjiv verma salil
6
नवगीत*लगें अपरिचितसारे परिचितजलसा घर मेंहै अस्पृश्य आजकल अमिधानहीं लक्षणा रही चाह मेंस्वर्णाभूषण सदृश व्यंजनाबदल रही है वाह; आह मेंसुख में दुःख को पाल रही हैश्वास-श्वास सौतिया डाह मेंहुए अपरिमितअपने सपनेकर के कर मेंसत्य नहीं है किसी काम कानाम न लेना भूल राम काकैद च...
 पोस्ट लेवल : नवगीत
sanjiv verma salil
6
छंद सलिला :संजीव*कीर्ति छंदछंद विधान:द्विपदिक, चतुश्चरणिक, मात्रिक कीर्ति छंद इंद्रा वज्रा तथा उपेन्द्र वज्रा के संयोग से बनता है. इसका प्रथम चरण उपेन्द्र वज्रा (जगण तगण जगण दो गुरु / १२१-२२१-१२१-२२) तथा शेष तीन दूसरे, तीसरे और चौथे चरण इंद्रा वज्रा (तगण तगण जगण दो...
 पोस्ट लेवल : कीर्ति छंद
sanjiv verma salil
6
कार्य शालाछंद-बहर दोउ एक हैं २*गीतफ़साना(छंद- दस मात्रिक दैशिक जातीय, षडाक्षरी गायत्री जातीय सोमराजी छंद)[बहर- फऊलुन फऊलुन १२२ १२२]*कहेगा-सुनेगासुनेगा-कहेगाहमारा तुम्हाराफसाना जमाना*तुम्हें देखता हूँतुम्हें चाहता हूँतुम्हें माँगता हूँतुम्हें पूजता हूँबनाना न आयाबहान...
 पोस्ट लेवल : छंद-बहर दोउ एक हैं २
sanjiv verma salil
6
कार्य शालाछंद-बहर दोउ एक हैं ३*मुक्तिकाचलें साथ हम(छंद- तेरह मात्रिक भागवत जातीय, अष्टाक्षरी अनुष्टुप जातीय छंद, सूत्र ययलग )[बहर- फऊलुं फऊलुं फअल १२२ १२२ १२, यगण यगण लघु गुरु ]*चलें भी चलें साथ हमकरें दुश्मनों को ख़तम*न पीछे हटेंगे कदमन आगे बढ़ेंगे सितम*न छोड़ा, न छो...
 पोस्ट लेवल : छंद-बहर दोउ एक हैं ३