ब्लॉगसेतु

Yashoda Agrawal
7
सादर अभिवादन''आज का चिन्तन''स्व पर नियंत्रण आसान नहीं है. 'जिसका स्वयं पर राज हो,जो लोभ, मोह और डर पर लगाम लगाए रखता है, वही वास्तविक में राजा है'''आज विश्व मधुमेह दिवस है''14 नवम्बर चाटर्रा, बेन्टिंग का जन्म दिन है जिन्होंने कानाडा के टोरन्टो शहर में बेन...
 पोस्ट लेवल : 175
रविशंकर श्रीवास्तव
4
..............................
 पोस्ट लेवल : आलेख
रविशंकर श्रीवास्तव
4
..............................
 पोस्ट लेवल : कविता ई-बुक ईबुक
रविशंकर श्रीवास्तव
4
..............................
 पोस्ट लेवल : ई-बुक ईबुक
रविशंकर श्रीवास्तव
4
..............................
 पोस्ट लेवल : आलेख
sanjiv verma salil
5
कृति चर्चा :'चुप्पियों को तोड़ते हैं' नव आशाएँ जोड़ते नवगीत चर्चाकार : आचार्य संजीव वर्मा 'सलिल'[कृति परिचय - चुप्पियों को तोड़ते हैं, नवगीत संग्रह, योगेंद्र प्रताप मौर्य, प्रथम संस्करण २०१९, ISBN ९७८-९३-८९१७७-८७-९, आवरण पेपरबैक, बहुरंगी, २०.५ से. मी .x १४से...
Devendra Gehlod
64
..............................
 पोस्ट लेवल : zia-ur-rehman-jafri bal-sahitya kavita
Devendra Gehlod
64
..............................
 पोस्ट लेवल : zia-ur-rehman-jafri bachche bal-sahitya kavita
संजय भास्कर
223
एहसासों को सहलाती हुई शक्कर की तरह मीठी एक कप चाय जब कोई पूछता है बड़े प्यार से तो महज वो दूध और चायपत्ती को उबालकर बनी हुई एक कप चाय नहीं होती वो एक माध्यम होती है एहसासों को सहलाने की क्योंकि चाय के बहाने साँझा होती है हम सब की कुछ चीनी सी मीठी यादें कुछ...
jafar airoli
285
कई बार जो जहर हम दोनों ने साथ-साथ पीया,चंद रोज की अनबन में तुमने जमाने को उगल दिया..बेकशी ने जैसे तैसे बेक़रारी को जब समझा लिया,नया बहाना बनाकर उसने फिर इरादा बदल दिया,आज भी अपने फैसले पे हरसू पछताता हूँ,उस मोड़ पर क्यो हमने अपना रास्ता बदल दिया,तुम्हारा गुस्सा तुम्ह...