ब्लॉगसेतु

Saransh Sagar
226
२९ मार्च २०२० को ये फोटो मेरे ग्रुप ज्ञानसागर पर किसीने साझा करी जिससे देखकर मै भी प्रभावित और प्रेरित हुआ ! अपने सामर्थ्य अनुसार सहायता जो कर सकता था वो किया पर इस बहन जी और इनके पति देव के इस प्रयास से काफी लोगो को प्रोत्साहन और आत्म संतोष हुआ साथ ही साथ अन्य सेव...
Yashoda Agrawal
10
आज हमने ठान लिया हैकोरोना पर लिक्खी एक भी रचना नहीं लेंगेकान पक गए है सुनते-सुनतेसादर अभिवादन..कोरोना रहित रचनाएँ..बेटी- टुकड़ा है मेरे दिल का... सुधा देवरानीसच कहती हो,खूब कहो !शर्मिंदा हूँ निज कर्मों से......वंश वृद्धि और पुत्र मोह मेंउलझा था मिथ्या भ्रमों सेफिर भ...
 पोस्ट लेवल : 309
sanjiv verma salil
6
विमर्श:  विश्वास या विष-वास?*= 'विश्वासं फलदायकम्' भारतीय चिंतन धारा का मूलमंत्र है।= 'श्रद्धावान लभते ग्यानम्' व्यवहार जगत में विश्वास की महत्ता प्रतिपादित करता है।बिना विश्वास के श्रद्धा हो ही नहीं सकती। शंकाओं का कसौटियों पर अनगिनत बार लगातार विश्वास ख...
sanjiv verma salil
6
हूँभीरु,डरताहूँ पाप से. .न हो सकताभारत का नेताडरता हूँ आप से.*हैकौनजो रोके,मेरा मनमुझको टोंके,गलती सुधार.भयभीत मत हो.*जोकरेफायरदनादनबेबस पर.बहादुर नहींआतंकी है कायर.*हूँनहींसुरेश,न नरेश,आम आदमी.थोडा डरपोंककुछ बहादुर भी.*मैंदेखूँसपने.असाहसीकतई नहीं.बनाता उनकोहकीकत ह...
यूसुफ  किरमानी
195
#लॉकडाउन पर मोदी सरकार की नीति और नीयत पर कुछ खुलासा...#प्रधानमंत्री ने 26 मार्च को देश के सभी प्राइवेट #एफएम_रेडियो के जॉकी (आरजे) से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करने की इच्छा जताई। प्रसार भारती ने सभी मीडिया हाउसों को संदेश भेजा। 27 मार्च यानी शुक्रवार सुबह प्रधानमंत्री...
Bharat Tiwari
15
कर्फ्यू— चौ. मदन मोहन समरआम जनता सिस्टम की उन नाकामियों को जिनका कारण राजनीति आदि होती हैं और जिनसे पैदा होने वाली समस्याओं से निपटारा पाना पुलिस की जिम्मेदारी हो जाता है, उसके लिए पुलिस को कटघरे में खड़ा करती है. मेरा ख़ुद का सबसे जिगरी दोस्त दिल्ली पुलिस में है, जि...
sanjiv verma salil
6
एक रचना:उल्लू उवाचमुतके दिन मा जब दिखो, हमखों उल्लू एक.हमने पूछी: "कित हते बिलमे? बोलो नेंक"बा बोलो: "मुतके इते करते रैत पढ़ाई.दो रोटी दे नई सके, बो सिच्छा मन भाई.बिन्सें ज्यादा बड़े हैं उल्लू जो लें क्लास.इनसें सोई ज्यादा बड़े, धरें परिच्छा खास.इनसें बड़े निकालते पेपर...
 पोस्ट लेवल : उल्लू उवाच हास्य
sanjiv verma salil
6
दोहा सलिला:*मले उषा के गाल पर, सूरज छेड़ गुलालबादल पिचकारी लिए, फगुआ हुआ कमाल.*नीता कहती नैन से, कहे सुनीता-सैन.विनत विनीता चुप नहीं, बोले मीठे बैन.*दोहा ने मोहा दिखा, भाव-भंगिमा खूब.गति-यति-लय को रिझा कर, गया रास में डूब.*रोगी सिय द्वारे खड़ा, है लंकेश बुखार.भिक्षा...
 पोस्ट लेवल : दोहा सलिला 2018 ki laghukathayen
sanjiv verma salil
6
नवगीत-दरक न पाऐँ दीवारेंहम में हर एक तीसमारखाॅंकोई नहीं किसी से कम ।हम आपस में उलझ-उलझकरदिखा रहे हैं अपनी दम ।देख छिपकली डर जाते परकहते डरा न सकता यम ।आॅंख के अंधे देख-न देखेंदरक रही हैं दीवारें ।*फूटी आॅंखों नहीं सुहातीहमें, हमारी ही सूरत ।मन ही मन में मनमाफि़कगढ़...
 पोस्ट लेवल : नवगीत 2018 ki laghukathayen
sanjiv verma salil
6
छंद सलिला:मनमोहन छंदसंजीव*लक्षण: जाति मानव, प्रति चरण मात्रा १४ मात्रा, यति ८-६, चरणांत लघु लघु लघु (नगण) होता है.लक्षण छंद:रासविहारी, कमलनयनअष्ट-षष्ठ यति, छंद रतनअंत धरे लघु तीन कदमनतमस्तक बलि, मिटे भरम.उदाहरण:१. हे गोपालक!, हे गिरिधर!!हे जसुदासुत!, हे नटवर!!हरो म...