ब्लॉगसेतु

अनीता सैनी
0
सादर अभिवादन आज की प्रस्तुति में आप सभी का हार्दिक स्वागत है (शीर्षक आदरणीय शास्त्री सर की रचना से )आज बिना किसी भूमिका के चलते हैं, आज की कुछ खास रचनाओं की ओर....------------------ दोहे  "बहुत कठिन है राह" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक...
Neeraj Goswamy
0
सुख़न-सराई कोई सहल काम थोड़ी है ये लोग किस लिए जंजाल में पड़े हुए हैं *किसी किसी को है तरबीयते-सुख़नसाज़ी  कोई कोई है जो ताज़ा लकीर खींचता है *शेर वो लिख्खो जो पहले कहीं मौजूद न हो ख़्वाब देखो तो ज़माने से अलग हो जाओ शायरी ऐसे झमेलों से बहुत आ...
jaikrishnarai tushar
0
 चित्र -साभार गूगल एक गीत -क्रांतिकारियों के बलिदानों को हम कैसे भूल गए क्रांतिकारियों के बलिदानों को हम कैसे भूल गए । उनकी गाथा फिर से लिक्खो जो फाँसी पर झूल गए। आज़ादी का मतलब केवल धरना और उपवास लिखे, भगत सिंह आज़ाद से नायक उन चश्मों को नहीं दिखे, लाठी...
Barun Sakhajee
0
सौजन्य- गूगल इमेज।बरुण सखाजी श्रीवास्तव(संपादक व राजनीतिक विश्लेषक)कांग्रेस में बीते कुछ सालों से कुछ ठीक नहीं चल रहा। बावजूद इसके गांधी परिवार की सरपरस्ती बरकरार है। हाल ही में जिन 23 नेताओं ने पत्र लिखकर कांग्रेस में आमूलचूल बदलाव की बात कही है, उन्हें भी संदिग्ध...
अनीता सैनी
0
 सादर अभिवादन। सोमवारीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है। बदलते मौसम से बेख़बर न रहिए,हालात के तूफ़ान से बेअसर न रहिए। #रवीन्द्र_सिंह-यादव  आइए पढ़ते हैं विभिन्न ब्लॉग्स पर प्रकाशित कुछ रचनाएँ---गीत "मौसम ने ली है अँगड़ाई"...
Sumit Pratap Singh
0
        देश के भीतर समाज की सुरक्षा व्यवस्था संभालने के साथ-साथ अब खाकी धारियों ने गाँव के नौनिहालों के अध्ययन करने के लिए पुस्तकालय के निर्माण की व्यवस्था का भी जिम्मा संभाला है। ये कार्य ग्राम पाठशाला के अंतर्गत किया जा रहा है। ग्राम...
 पोस्ट लेवल : Author Sumit Sumit Pratap Singh
jaikrishnarai tushar
0
  चित्र -साभार गूगल एक ग़ज़ल -कोई आज़ाद बतलाओ कि जो आज़ाद जैसा है तुम्हारा जन्म भारत भूमि पर अपवाद जैसा है कोई आज़ाद बतलाओ कि जो आज़ाद जैसा है शहीदों की कहानी हाशिए पर कौन लिखता था मेरे मानस पटल पर चित्र यह अवसाद जैसा है वो ऐसा भक्...
jaikrishnarai tushar
0
 चित्र -साभार गूगल एक ग़ज़ल -रंग- पिचकारी लिए मौसम खड़ा ख़त 'बिहारी' लिख रहा होकर विकल ऐ मेरे 'जयसिंह 'मोहब्बत से निकल फिक्र है विद्वत सभा दरबार को कब तू छोड़ेगा नई रानी महल अब प्रजा का हाल वह कैसे सुने इत्र विस्तर पर बगीचे में कं...
शिवम् मिश्रा
0
आज २७ फरवरी है ... आज अमर शहीद पंडित चन्द्र शेखर आज़ाद जी का ९० वां बलिदान दिवस है ... आज ही के दिन सन १९३१ मे इलाहाबाद के आजाद पार्क ( अल्फ्रेड पार्क ) में हुई भयानक खूनी मुठभेड़ आजादी के इतिहास का स्वर्णिम पृष्ठ बन गई ...युवाओं और देशभक्तों के महान प्रेरणा स्रोत...
उमाशंकर  मिश्र
0
उमाशंकर मिश्रभारतीय वैज्ञानिक सर सी.वी. रामन द्वारा अपनी खोज को सार्वजनिक किए जाने की याद में हर वर्ष 28 फरवरी को मनाया जाने वाला राष्ट्रीय विज्ञान दिवस देश के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी कैलेंडर का एक महत्वपूर्ण अंग है। इस बार राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के मौके पर नई दिल...