ब्लॉगसेतु

संजीव तिवारी
7
..............................
 पोस्ट लेवल : ताजा खबर
कुसुम कोठारी
130
श़मा ज़लती है ,पिघलती है,अंत तक अंजुमन को रौशन रखती है।तीली बस सुलगती और बुझती हैपर कुछ जलाती,जब-जब भी जलती है।जलाने की शक्ति, जब दीप जलाती,ज्योति से  हर कोना पावन मंदिर का भरती।धूप की भीनी सौरभ मन को  भाती ,भुखे उदर को देती रोटी, चूल्हा जब जलाती।आती लाज...
जयदीप शेखर
273
शायद 2003 की बात होगी। हम छुट्टी लेकर घर आये थे कि अपने घर के पीछे की तरफ परती जगह पर अपने लिए अलग से एक बसेरा बनवा लें, क्योंकि दो साल बाद ही हमें सेवा से अवकाश लेना था। जो राजमिस्त्री आया, वह काम के लिए राजी तो हुआ, लेकिन उसका कहना था कि वह अगले महीने से काम शुर...
संजीव तिवारी
63
..............................
 पोस्ट लेवल : TV
संजीव तिवारी
7
..............................
 पोस्ट लेवल : ताजा खबर
संजीव तिवारी
7
..............................
 पोस्ट लेवल : ताजा खबर
sanjiv verma salil
5
आलेख:गीति-काव्य में छंदों की उपयोगिता और प्रासंगिकताआचार्य ​संजीव​ वर्मा​ 'सलिल'*भूमिका: ध्वनि और भाषा​आध्यात्म, धर्म और विज्ञान तीनों सृष्टि की उत्पत्ति नाद अथवा ध्वनि से मानते हैं। सदियों पूर्व वैदिक ऋषियों ने ॐ से सृष्टि की उत्पत्ति बताई, अब विज्ञान नवीनतम खोज क...
संजीव तिवारी
63
..............................
 पोस्ट लेवल : TV
विजय राजबली माथुर
124
वाराणसी के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा वामपंथी दलों पर लगाए बचकाने आरोप की भाकपा एवं माकपा ने निन्दा कीकहा- आकाओं की भाषा बोल रहे हैं एसएसपीलखनऊ- 24 जनबरी 2019, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य सचिव डा॰ गिरीश एवं भारत की कम्युनिस्ट पार्टी- मार्क्सवादी के राज्य सचि...
विजय राजबली माथुर
97
  Naish Hasan· उजरियांव शाहीनबाग, क्या कहती है बहने सुनिए, ये समीना किदवई हैं। ~विजय राजबली माथुर ©