ब्लॉगसेतु

Devendra Gehlod
0
..............................
 पोस्ट लेवल : habib-jalib nazm
कुसुम कोठारी
0
 विविक्त!जेल में दो कैदी एक साथ एक बहुत गंभीर बिमारी से बाहर आया ही था कमजोरी और खिन्नता से भरा, दूसरा भी हर रोज कुछ शारीरिक पीड़ा से गुजर रहा था।दोनों साथ रह कर अपना समय एक दूसरे के सहारे बीता रहे थे, दोनों को एक-दूसरे की आदत हो गई गंभीर कैदी हर रोज प्रार्थना...
Krishna Kumar Yadav
0
While the number of youth voters has increased in the elections of the Uttar Pradesh Legislative Assembly, the number of new applications for Electoral photo Identity Card (EPIC) has also increased rapidly. The Election Commission is dispatching the EPIC Cards thro...
 पोस्ट लेवल : KK Yadav speaks EPIC news Varanasi Speed Post
MediaLink Ravinder
0
17th February 2022 at 01:34 PM घर का बजट बिगड़ने वाला आदेश वापिस नहीं लिया तो आंदोलन तेज़लुधियाना: 17 फरवरी 2022: (रेल स्क्रीन ब्यूरो):: रेल के नाराज़ हुए मुलाज़िमों ने लुधियाना के रेलवे स्टेशन पर केंद्र सरकार के खिलाफ ज़ोरदार विरोध प्रदर्शन&nbs...
Devendra Gehlod
0
..............................
 पोस्ट लेवल : naseer-turabi ghazal dil
Krishna Kumar Yadav
0
उत्तर प्रदेश विधान सभा के चुनावों में जहाँ युवा मतदाताओं की संख्या बढ़ी है, वहीं वोटर आईडी कार्ड के आवेदनों की संख्या में भी तेजी से इजाफ़ा हुआ है। निर्वाचन आयोग डाक विभाग के माध्यम से मतदाता फोटो पहचान पत्रों का प्रेषण कर रहा है। वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जन...
 पोस्ट लेवल : KK Yadav speaks पहल EPIC news Varanasi Speed Post
Devendra Gehlod
0
..............................
 पोस्ट लेवल : ghazal ahmad-faraz
sanjiv verma salil
0
सॉनेटधीर धरकर•पीर सहिए, धीर धरिए।आह को भी वाह कहिए।बात मन में छिपा रहिए।।हवा के सँग मौन बहिए।।मधुर सुधियों सँग महकिए।स्नेहियों को चुप सुमिरिए।कहाँ क्या शुभ लेख तहिए।।दर्द हो बेदर्द सहिए।।श्वास इंजिन, आस पहिए।देह वाहन ठीक रखिए।बनें दिनकर, नहीं रुकिए।।असत् के आगे न झ...
Devendra Gehlod
0
..............................
 पोस्ट लेवल : devendra-gautam ghazal dil
कुसुम कोठारी
0
 आया बसंत मनभावनहरि आओ ना। राधा हारी कर पुकारहिय दहलीज पर बैठे हैंनिर्मोही नंद कुमारकालिनी कूल खरी गायेहरि आओ ना। फूल-फूल डोलत तितलियाँकोयल गाये मधु रागिनियाँमयूर पंखी भई उतावरी सजना चाहे भाल तुम्हारीहरि आओ ना।सतरंगी मौसम सुरभित पात-पात बसं...