ब्लॉगसेतु

Rajeev Upadhyay
382
समय की ही कहानी कह रहे हैं सभीपशु, आदमी या हो फिर कोई चींटी।हेर-फेर है किरदारों में बसकि आइने की अराइश सेबह रही हैं स्वर लहरियाँ कईजो होकर गुजरती हैं कानों से सभी।समय की ही कहानी कह रहे हैं सभी॥उन स्वरों से धुन कई हैं निकलतींजो कहानी बनकर हैं पिघलतींऔर इस तरह हर आँ...
 पोस्ट लेवल : Hindi Poem Literature
कुमार मुकुल
221
''मैं सामान्य हूं, पर मेरी कविता सामान्य नहीं, क्यों कि उसमें मेरे अलावा अन्य कई रचनाकार शामिल हैं। रचना व्यक्ति की नहीं समय की होती है। एक चित्रकार जब किसी का चित्र बनाता है तो उस व्यक्ति के साथ उस चेहरे पर समय का जो प्रभाव अंकित है उसे भी बना रहा होता है। मेरी...
Noopur Shandilya
128
नीलाम्बर सा नभ का चंदोबा,पतंगों सी झिलमिलात&#2368...
 पोस्ट लेवल : एक बात
Ajay Singh
23
शिवमहापुराण – प्रथम विद्येश्वरसंहिता – अध्याय 09 श्री गणेशाय नमः श्री साम्बसदाशिवाय नमः नौवाँ अध्याय महेश्वर का ब्रह्मा और विष्णु को अपने निष्कल और सकल स्वरूप का परिचय देते हुए लिंगपूजन का महत्त्व बताना नन्दिकेश्वर बोले — वे दोनों ब्रह्मा और विष्णु भगव...
 पोस्ट लेवल : शिवपुराण
Ajay Singh
23
शिवमहापुराण – प्रथम विद्येश्वरसंहिता – अध्याय 08 श्री गणेशाय नमः श्री साम्बसदाशिवाय नमः आठवाँ अध्याय भगवान् शंकर द्वारा ब्रह्मा और केतकी पुष्प को शाप देना और पुनः अनुग्रह प्रदान करना नन्दिकेश्वर बोले — तदुपरान्त महादेव शिवजी ने ब्रह्मा के गर्व को मिटाने...
 पोस्ट लेवल : शिवपुराण
Ajay Singh
23
॥ अथ त्वरित रुद्रमन्त्र प्रयोगः॥ (हेमाद्रिशांति रत्नेषु) इस मन्त्र का प्रयोग सभी कामनाओं की सिद्धि हेतु तथा विघ्ननाश हेतु किया जाता है । औषधोपचार में यदि दवाकाम नहीं कर रही है तो इसके प्रयोग से मार्गदर्शन होकर रोगी को लाभ प्राप्त होगा । मन्त्रोयथा – ॐ यो रुद्...
विजय राजबली माथुर
117
भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई) के नेता कामरेड इन्द्रजीत गुप्त सिर्फ 1977-80 को छोड़कर 1960 से जीवनपर्यंत सांसद रहे। सबसे वरिष्ठ सांसद रहने के नाते वह तीन बार (1996, 1998, 1999) प्रोटेम स्पीकर बने और उन्होंने नवनिर्वाचित सांसदों को शपथ दिलायी। वह सीपीआई के राष्ट्...
Yashoda Agrawal
11
सादर अभिवादन। मुखरित मौन के नवीनतम अंक के साथ आपका स्वागत है। पेश हैं आपकी सेवा में हाल ही में प्रकाशित चंद चुनिंदा रचनाएँ -गाय बिन बछड़ा ..........रेणुबाला  होती माँ  जो  आज  चाट कर  लाड जताती . होता   तनि...
 पोस्ट लेवल : 59
विजय राजबली माथुर
161
स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं
MediaLink Ravinder
20
Jul 21, 2019, 3:05 PM मौजूदा चुनौतियों की भी विस्तृत चर्चा की गयी लुधियाना: 21 जुलाई 2019: (पंजाब स्क्रीन ब्यूरो)::  बॉक्स की पंक्तियाँ सत्याग्रह से साभार  कहा जाता है कि बैंकों के राष्ट्रीयकरण से पहले का ज़माना एक ऐसा वक़्त था जिसमें&...
 पोस्ट लेवल : Ludhiana Parveen Maudgil Banks Naresh Gaur Email News Seminar