ब्लॉगसेतु

विजय राजबली माथुर
95
 * मोदी ने झूठ से भरे और निचले स्तर के भाषण किए और पैसे तथा नौकरशाही के इस्तेमाल में कोई कसर नहीं छोड़ा। लेकिन वही मोदी लोकप्रिय साबित हुए क्योंकि कारपोरेट पूंजीवाद उनके पीछे खड़ा था। मीडिया, सोशल मीडिया और प्रचार में उन्होंने हजारों करोड़ खर्च किया और झूठ क...
Yashoda Agrawal
2
वफा के बदले वफा क्यूँ नहीं देते।जख्म दिया है दवा क्यूँ नहीं देते।।आंख है नम जो तुम्हारी साथ से।तुम उसे अभी भुला क्यूँ नहीं देते।।मुहब्बत नहीं जब तुम्हारी रूह से।गुनाह की उसे सजा क्यूँ नहीं देते।।-प्रीति श्रीवास्तव
vibha rani shrivastava
153
"कहाँ गए थे इस हाल में?" चौकीदार काका को उनकी साइकिल थमाते इशर से उसके पिता ने पूछा। इशर जिस पार्टी का कार्यकर्त्ता था उसी पार्टी की जिम्मेदार नेत्री से मिलकर वापस आया था।"महिबा जी से भेंट करने!""इस तरह, इतनी रात को..ऐसी क्या बात हो गई ?""दिन महिबा जी के सोने का सम...
संजीव तिवारी
31
#कहानी : लालू अऊ कालू #मोरो बिहा कर दे #नानकिन किस्सा : प्याऊ #आमा खाव मजा पाव #आमा के चटनी #छत्तीसगढ़ी भाषा का मानकीकरण : कुछ विचार ..फोटूल अंगरी म चटकार के पढ़व .. (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});
kuldeep thakur
1
सादर अभिवादन..आज अचानक-भयानकहमारी एन्ट्री.. जैसे..अनचाहा परिणाम आ गया..परिणाम तो सही ही आया...चलिए चलें रचनाओं की ओर...शब्द परिचित से ....अभी अभीउतरे हैं कुछ शब्दअंधेरी पथरीली सीढ़ियों से, शब्दकुछ परिचित  मुक्ति ....."यह क्या है! बाहर के लोग क्या...
 पोस्ट लेवल : 1407
अरूण चन्‍द्र राय
112
जनता की आकांक्षा को समझने में असफल रहे राजनीतिक दल- अरुण चन्द्र रॉय पंडित नेहरू के बाद नरेन्द्र मोदी दूसरे ऐसे प्रधानमंत्री हैं जिन्होंने लगातार दो बार अपने दल को लोकसभा चुनाव में जिताया है।  जब देश के लगभग सभी राजनीतिक दल एकजुट होकर भाजपा का विरोध कर रही...
Meena Sharma
77
ना तो मैं तेरे बागों की चिड़िया,ना बचपन की गुड़िया रे !ना मैं मैया, ना मैं बिटिया,ना माँ जाई बहना रे !मैं तो तेरे बाग की बुलबुल,गाऊँ आधी रात रे !मैं तो तेरी कुइयाँ का पानी,बरसूँगी बन बरसात रे !!!ना तेरे पौधों की कच्ची कली,ना तेरी लगाई बेल रे !ना मैं तेरे देस की वासी,...
Vidyut Maurya
48
( महिला सांसद - 71 ) बिभा रानी गोस्वामी पश्चिम बंगाल में वामपंथ से जुडे महिला नेत्रियों में प्रमुख नाम रहा। दलित समाज से आने वाली बिभा रानी नबाद्वीप लोक सभा से चुनाव जीत कर चार बार संसद में पहुंचीं। उन्होंने पहली बार 1971 में पांचवी लोकसभा का चुनाव मार्क्सवादी कम्य...
 पोस्ट लेवल : RAJKAJ
kumarendra singh sengar
28
आज समूचा देश लोकसभा चुनाव परिणामों को जानने की चाह में किसी न किसी रूप में मीडिया से जुड़ा हुआ है. अभी तक जिस तरह से रुझान आये हैं, उनसे स्थिति एकदम साफ़ हो चुकी है. भाजपा की, NDA की धमाकेदार वापसी दिख रही है. विपक्ष और महागठबंधन जैसी स्थितियों को मतदाताओं ने नकारा ह...